Test: Strength Of Material - 1


20 Questions MCQ Test Mock Test Series for SSC JE Mechanical Engineering (Hindi) | Test: Strength Of Material - 1


Description
Attempt Test: Strength Of Material - 1 | 20 questions in 12 minutes | Mock test for Mechanical Engineering preparation | Free important questions MCQ to study Mock Test Series for SSC JE Mechanical Engineering (Hindi) for Mechanical Engineering Exam | Download free PDF with solutions
QUESTION: 1

चित्र में दिखाए गए समतल प्रतिबल की स्थिति के लिए, अधिकतम और न्यूनतम प्रमुख प्रतिबल निम्न में से क्या हैं?

Solution:

अधिकतम और न्यूनतम प्रमुख प्रतिबल निम्न हैं:



QUESTION: 2

बंकन आघूर्ण M और बलाघूर्ण T एक ठोस वृत्ताकार शाफ्ट पर लागू किए जाते हैं। यदि अधिकतम बंकन प्रतिबल अधिकतम अपरूपण प्रतिबल के बराबर होता है, तो M निम्न में किसके बराबर होगा?

Solution:

बंकन आघूर्ण के कारण बंकन प्रतिबल:


ऐंठन आघूर्ण/बलाघूर्ण के कारण अपरूपण प्रतिबल:

यदि अधिकतम बंकन प्रतिबल उत्पन्न अधिकतम अपरूपण प्रतिबल के बराबर होता है तो:

QUESTION: 3

बंकन आघूर्ण M और बलाघूर्ण T को शाफ्ट पर लागू करने पर समतुल्य बलाघूर्ण निम्न में से क्या होगा?

Solution:

कुछ अनुप्रयोगों में शाफ्ट एक साथ बंकन आघूर्ण M और बलाघूर्ण T के अधीन होते हैं।

सरल बंकन सिद्धांत समीकरण के द्वारा:

यदि σb शाफ्ट पर बंकन आघूर्ण के कारण अधिकतम बंकन का प्रतिबल है, तो:

टोरसन समीकरण:

ऐंठन आघूर्ण T के कारण शाफ्ट की सतह पर उत्पन्न अधिकतम अपरूपण प्रतिबल:

समतुल्य बंकन आघूर्ण:

समतुल्य आघूर्ण:

QUESTION: 4

Solution:

यहाँ RA = RB = W हैं

A से C के बीच:

Mx = W× x ⇒ Ma = 0,Mc = Wa

C से D के बीच:

Mx = W× x−W(x−a) ⇒ MD = W×4a−W(4a−a) = Wa

D से B के बीच:

Mx = W× x−W(x−a)−W(x−4a) ⇒ MB = W×5a−W(5a−a)−W(5a−4a) = 0

QUESTION: 5

यदि प्रिज्मेटिक छड़ को अक्षीय तन्यता प्रतिबल σ के अधीन रखा जाता है, तो अक्ष के साथ θ पर झुके हुए एक समतल पर अपरूपण प्रतिबल निम्न में से क्या होगा?

Solution:

Pn= बल P का घटक, सामान्य अनुप्रष्थ FG= P cos θ

Pt = समतल के खंड FG के घटक के साथ बल P का घटक (समतल FG के लिए स्पज्या) = P sin θ

σn = खंड FG में सामान्य प्रतिबल

σn = σcos2θ

σt = अनुभाग FG में स्पज्या / अपरूपण प्रतिबल

QUESTION: 6

निम्नलिखित में से उचित अनुक्रम का चयन करें।

1. आनुपातिक सीमा        
2. प्रस्त्यास्थता सीमा
3. यील्डिंग                     
4. विफलता

Solution:

QUESTION: 7

सामान्य प्रतिबल की द्वि-अक्षीय स्थिति के मामले में, 45 डिग्री सतह पर सामान्य प्रतिबल निम्न में से किसके बराबर है?

Solution:

सामान्य प्रतिबल की द्वि-अक्षीय स्थिति के मामले में:

एक झुकी हुई सतह पर सामान्य प्रतिबल:

एक झुकी हुई सतह पर अपरूपण प्रतिबल:

45 डिग्री सतह पर सामान्य प्रतिबल:

QUESTION: 8

तापमान प्रतिबल निम्न में किस का फलन है?

1. रैखिक प्रसार का गुणांक

2. तापमान वृद्धि

3. प्रत्यास्थता मापांक

Solution:

तापीय विकृति εT तापमान परिवर्तन ΔT के आनुपातिक है

ϵT = αΔT

α तापीय प्रसार का गुणांक है।

जब छड़ प्रसार करने के लिए प्रतिबंधित है, तो सामग्री में तापीय प्रतिबल उत्पन्न होगा:

σT = strain×E = α.ΔT.E

QUESTION: 9

1 वर्ग सेंटीमीटर छड़ का अनुप्रस्थ काट क्षेत्र 100 सेंटीमीटर लंबा है और इसमें यंग का प्रत्यास्थता मापांक 2 × 106 kgf/cm2 है। यह 2000 kgf की अक्षीय खिंचाव के अधीन है। छड़ की लम्बाई में बदलाव निम्न में से कितना होगा?

Solution:

लंबाई में बदलाव:

QUESTION: 10

मान लीजिए कि लंबाई L और त्रिज्या 'r' के तार का यंग मापांक Y है। यदि लंबाई को L/2 द्वारा और त्रिज्या को r/2 द्वारा घटाया जाता है तो उसका यंग मापांक क्या होगा?

Solution:

यंग मापांक एक तार के निर्माण की सामग्री की एक विशेषता है। यह केवल तार बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली सामग्री की प्रकृति पर निर्भर करता है।

यंग मापांक प्रत्यक्ष आयामों जैसे तार की लंबाई और व्यास पर निर्भर नहीं करता है। इस प्रकार यंग मापांक में कोई बदलाव नहीं हो सकता है।

QUESTION: 11

आंतरिक भाप दबाव के तहत बेलनाकार बॉयलर में परिधीय और अनुदैर्ध्य विकृति क्रमश: ε1 और ε2 हैं। बॉयलर सिलेंडर के आयतन में प्रति इकाई आयतन का परिवर्तन निम्न में से क्या होगा?

Solution:

QUESTION: 12

1 मीटर व्यास की धातु पाइप में 10 kgf/cm2 के दबाव वाला एक तरल पदार्थ है। यदि धातु में अनुमत तन्यता प्रतिबल 200 kgf/cm2 है, तो पाइप बनाने के लिए आवश्यक धातु की मोटाई निम्न में से क्या होगी?

Solution:

पतले सिलेंडर शेल में:

अनुदैर्ध्य प्रतिबल = परिधीय प्रतिबल का आधा

∴ परिधीय प्रतिबल ≤ अनुमत प्रतिबल

QUESTION: 13

आंतरिक दबाव के अधीन एक बॉयलर शेल में हूप्स प्रतिबल और अनुदैर्ध्य प्रतिबल क्रमशः 100 MN/m2 और 50 MN/m2 हैं। पदार्थ के शेल के यंग प्रत्यास्थता मापांक और प्वासों अनुपात क्रमशः 200 GN/m2 और 0.3 हैं। बॉयलर शेल में हूप विकृति निम्न में क्या होगी?

Solution:

हूप प्रतिबल:



QUESTION: 14

नीचे दिए गए चित्र में दिखाए गए अनुसार, दो अलग-अलग उन्मुखताओं में एक बीम अनुप्रस्थ काट का उपयोग किया गया है:

Solution:

सरल बंकन सिद्धांत समीकरण के द्वारा:

यदि शाफ्ट पर, बंकन आघूर्ण M के कारण अधिकतम बंकन प्रतिबल σb है, तो:

समान बंकन आघूर्ण के लिए:

इसलिए σA = 2 σB

QUESTION: 15

वक्र ABC स्तंभ की स्थिरता के लिए यूलर वक्र है। क्षैतिज रेखा DEF शक्ति सीमा है। इस आंकड़े मिलान सूची-1 के संदर्भ में और रेखाओं के नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर का चयन करें।

Solution:

एक स्तंभ की लंबाई से इसके अनुप्रस्थ काट के परिवहन की न्यूनतम त्रिज्या के अनुपात को सुस्तता अनुपात कहा जाता है। इसका उपयोग डिज़ाइन भार को ज्ञात करने के साथ-साथ विभिन्न स्तंभों को लम्बाई के सन्दर्भ में छोटे/मध्यवर्ती/लंबे में वर्गीकृत करने के लिए व्यापक रूप से किया जाता है।

लंबे स्तंभ: यील्ड प्रतिबल से पहले प्रत्यास्थता के रूप में बकलिंग होती है।

लघु स्तंभ: यील्ड प्रतिबल के पार अप्रत्यास्थता के रूप में पदार्थ विफलता होती है।

QUESTION: 16

एक स्थिर छोर और दूसरे खुले छोर के साथ, L लम्बाई का एक स्तंभ, भार P1 के साथ कसा हुआ है। समान लंबाई और समान अनुप्रस्थ काट का अन्य स्तंभ जिसके दोनों छोर स्थिर हैं, दोनों छोर भार P2से जुड़े हुए हैं। P2/P1 का मान निम्न में से ज्ञात कीजिए।

Solution:

अधिकतम भार जिस पर स्तंभ का पार्श्व विस्थापन होता है या कसाव होता है उसे बकलिंग या क्रिप्लिंग भार के रूप में जाना जाता है। भार स्तंभ का विश्लेषण यूलर के स्तंभ सूत्रों के साथ निम्न रूप से किया जा सकता है

  • दोनों छोरों में कसाव के लिए, n = 1
  • एक स्थिर और दुसरे मुक्त छोर के लिए, n = ½
  • दोनों स्थिर छोर के लिए, n = 2
  • एक स्थिर छोर और दुसरे कसे हुए छोर के लिए, n = √2

QUESTION: 17

1000 न्यूटन वजन वाली वस्तु को 200 न्यूटन/सेमी कठोरता के एक बंद-कुंडली वाले हेलिकल स्प्रिंग पर 10 सेमी की ऊंचाई से गिराया जाता है। स्प्रिंग का परिणामी विक्षेपण लगभग निम्न में से कितना होगा?

Solution:

100 +10x - x2 = 0

x2 -10x - 100 = 0

QUESTION: 18

शाफ्ट A का व्यास शाफ्ट B के व्यास से दोगुना है और दोनों एक ही पदार्थ से बने हुए हैं। यह मानते हुए की दोनों शाफ्ट समान गति पर घूर्णन कर रहे हैं, B द्वारा प्रेषित अधिकतम शक्ति निम्न में से किसके बराबर होगी?

Solution:

QUESTION: 19

क्षेत्रफल A के साथ लंबाई L और एकरूप अनुप्रस्थ काट वाली एक छड़ तन्यता बल P और बलाघूर्ण T के अधीन है। यदि G अपरूपण मापांक है और E यंग मापांक है, तो छड़ में संग्रहीत आंतरिक विकृति ऊर्जा निम्न में से क्या होगी?

Solution:

अक्षीय बल के कारण लम्बाई s वाले किसी अवयव (यह घुमावदार या सीधा हो सकता है) में संग्रहीत प्रत्यास्थता विकृति ऊर्जा, बंकन आघूर्ण, अपरूपण बल और टोरसन का संक्षेप निम्न रूप से प्रस्तुत है:

भार P और बलाघूर्ण T के संयुक्त प्रभाव के कारण विकृति उर्जा :

QUESTION: 20

एकल-अक्षीय तन्यता भार के तहत मृदु इस्पात के लिए लचीलेपन को प्रतिबल-विकृति आरेख के निम्न में से किस छायांकित हिस्से द्वारा दिखाया गया है? निम्न में सही विकल्प चुनिए।

Solution:

लचीलापन: यह प्रत्यास्थता क्षेत्र में ऊर्जा को अवशोषित करने के लिए सामग्री की क्षमता है। इसे प्रति इकाई आयतन में विकृति  ऊर्जा द्वारा दर्शाया जाता है जो प्रत्यास्थता क्षेत्र का भाग है।

कठोरता: यह प्लास्टिक की श्रेणी में ऊर्जा को अवशोषित करने की क्षमता है। इसे प्रतिबल-विकृति वक्र के तहत कुल क्षेत्र द्वारा दर्शाया जाता है।


Use Code STAYHOME200 and get INR 200 additional OFF
Use Coupon Code