Test: Estimation & Costing- 1 (Hindi)


20 Questions MCQ Test Mock Test Series for SSC JE Electrical Engineering (Hindi) | Test: Estimation & Costing- 1 (Hindi)


Description
Attempt Test: Estimation & Costing- 1 (Hindi) | 20 questions in 12 minutes | Mock test for Electrical Engineering (EE) preparation | Free important questions MCQ to study Mock Test Series for SSC JE Electrical Engineering (Hindi) for Electrical Engineering (EE) Exam | Download free PDF with solutions
QUESTION: 1

जब उच्च वोल्टेज ओवरहेड लाइन किसी भी इमारत के ऊपर या बगल से गुज़रती है, उस तार के तुरंत नीचे इमारत के उच्चतम हिस्से के बीच लंबवत निकासी IE नियमों में अनुशंसित कितने से कम नहीं होती है?

Solution:

IE नियम 80 के अनुसार,

जब एक उच्च या अतिरिक्त उच्च वोल्टेज ओवर-हेड लाइन किसी भी ईमारत या ईमारत के हिस्से के ऊपर या बगल से गुज़रती है, इस प्रकार की लाइन के तुरंत निचे, ईमारत के उच्चतम हिस्से के ऊपर एक उर्ध्वाधर निकासी निम्न से कम नहीं होनी चाहिए -

(a) 33,000 वोल्ट और उच्च वोल्टेज लाइनों के लिए - 3.7 मीटर

(b) अत्यधिक-उच्च वोल्टेज लाइन के लिए - प्रत्येक अतिरिक्त 33,000 वोल्ट या उसके हिस्से के लिए 3.7 मीटर के साथ 0.3 मीटर।

QUESTION: 2

सड़कों पर जमीन से एच.वी. लाइन की न्यूनतम दूरी क्या है?

Solution:

IE नियम 77 के अनुसार,

सेवा लाइनों सहित सड़क पर लगा एक ओवरहेड लाइन का कोई भी चालक किसी भी हिस्से पर निम्न ऊंचाई से कम नहीं होना चाहिए -

(a) कम और मध्यम वोल्टेज लाइनों के लिए - 5.8 मीटर

(b) उच्च वोल्टेज लाइनों के लिए - 6.1 मीटर

QUESTION: 3

ट्रम कारों को बिजली की आपूर्ति करने वाले ओवर-हेड लाइनों की न्यूनतम ऊंचाई कितनी होनी चाहिए?

Solution:

IE नियम के अनुसार, ट्रम कारों को बिजली की आपूर्ति करने वाले ओवर-हेड लाइनों की न्यूनतम ऊंचाई 10 मीटर की ऊंचाई होनी चाहिए।

QUESTION: 4

IS कूट के अनुसार सामान्यतौर पर भूमिगत तार का रंग क्या होता है?

Solution:


QUESTION: 5

किस वोल्टेज स्तर पर स्क्रू किए हुए कंड्यूट परिपथ का इस्तेमाल किया जाता है?

Solution:

बिजली के तारों की रक्षा के लिए स्क्रू किए हुए कंड्यूट परिपथ का उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग 250 वोल्ट से 600 वोल्ट के बीच वोल्टेज स्तर पर किया जाता है।

QUESTION: 6

विद्युत सारणी क्या होती है?

i. एक ईमारत के प्रत्येक कमरे के स्थानों की संख्या की जानकारी प्रदान करने वाली एक सूची या योजना

ii. एक विशिष्ट कमरे के लिए आवश्यक सभी विद्युतीय उपकरण की सूची

iii. सभी विद्युतीय उपकरण की सूची व उनके मूल्य

Solution:

विद्युत सारणी एक ईमारत के प्रत्येक कमरे के स्थानों की संख्या की जानकारी प्रदान करने वाली एक सूची या योजना है।

QUESTION: 7

मोटर स्थापन के अनुसार कौन-सा कथन सत्य है?

Solution:

1. लकड़ी का इस्तेमाल स्विचगियर लगाने के लिए नहीं किया जाता है

2. बिजली के तारों में इस्तेमाल किए जाने वाले सभी उपकरण लौह आवृत्त होने चाहिए

3. विद्युतीय लूपिंग, दो लाइट के बीच बनाए जाने वाले एक या अधिक लूप होते हैं जिसमें 1 एकल तार एकाधिक फिटिंग से जुड़ा होता है। सामान्यतौर पर लूपिंग उदासीन तार के लिए किया जाता है। न्यूट्रल तार एक विद्युत परिपथ में विद्युत धारा के लिए एक वापसी तार होता है, अर्थात यह आउटपुट उपकरण से बिजली को सेवा पैनल/बोर्ड में वाहित करता है।

4. लचीले कंड्यूट की लंबाई 3 मीटर से अधिक होती है।

QUESTION: 8

केवल प्रकाशीय बिंदुओं को जोड़ने वाले परिपथ में कितना अधिकतम भार जोड़ा जा सकता है?

Solution:

केवल प्रकाशीय बिंदुओं को जोड़ने वाले परिपथ में 800 वाट का अधिकतम भार जोड़ा जा सकता है।

QUESTION: 9

बिजली की स्थापना में धारा रेटिंग के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले सुरक्षा गुणांक का मान क्या है?

Solution:

सुरक्षा का गुणांक अपेक्षित या वास्तविक भार से ऊपर एक प्रणाली की लोड वाहित करने की क्षमता का वर्णन करती है। बिजली की स्थापना में धारा रेटिंग के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले सुरक्षा गुणांक का मान 2 होता है।

QUESTION: 10

पट्टी भू-योजन के लिए इस्तेमाल किया जाने वाली ताम्र पट्टियों का आयाम क्या होता है?

Solution:

पट्टी भू-योजन की विधि में, 25 मिमी x 1.6 मिमी (1 इंच x 0.06 इंच) के अनुप्रस्थ-काट के पट्टी इलेक्ट्रोड को 0.5 मीटर की न्यूनतम गहराई के क्षैतिज ट्रेंच में डाला जाता है। यदि तांबे का उपयोग किया जाता है, तो 25 मिमी x 4 मिमी (1 इंच x 0.15 इंच) के अनुप्रस्थ-काट का आयाम होता है और यदि गैल्वनाइज्ड आयरन या इस्पात का उपयोग किया जाता है तो 3.0 मिमी2 का आयाम होता है।

QUESTION: 11

हानि स्थिति के तहत किस प्रकार की न्यूट्रल ग्राउंडिंग विधि में उच्च क्षणिक वोल्टेज दिखाई देता है?

Solution:

ठोस ग्राउंडिंग: इस प्रकार के न्यूट्रल ग्राउंडिंग में, प्रणाली का न्यूट्रल सीधे नगण्य प्रतिरोध और प्रतिघात के चालक के माध्यम से जमीन से जुड़ा हुआ होता है।

प्रतिरोध ग्राउंडिंग: इस प्रकार के न्यूट्रल ग्राउंडिंग में, प्रणाली का न्यूट्रल एक या अधिक प्रतिरोध के माध्यम से जमीन से जुड़ा हुआ होता है। प्रतिरोध ग्राउंडिंग हानि धाराओं को सीमित करता है। यह प्रणाली को क्षणिक अति वोल्टेज से बचाता है।

प्रतिघात ग्राउंडिंग: इस विधि में हानि विद्युत धारा को सीमित करने के लिए न्यूट्रल और जमीन के बीच एक प्रतिघात प्रविष्ट किया जाता है। इस विधि में हानि की स्थिति के तहत उच्च क्षणिक वोल्टेज दिखाई देता है।

QUESTION: 12

मानव शरीर पर बिजली के झटके का प्रभाव किस पर निर्भर करता है?

i. विद्युत धारा

ii. वोल्टेज

iii. संपर्क की अवधि

Solution:

मानव शरीर पर बिजली के झटके का प्रभाव विद्युत धारा, वोल्टेज और संपर्क की अवधि पर निर्भर करता है।

QUESTION: 13

बिजली के उपकरणों के भू-योजन का उद्देश्य क्या होता है?

Solution:

भू-योजन आवश्यक होता है क्योंकि,

1. भू-योजन लघुपथ विद्युत धारा से व्यक्ति की रक्षा करता है इसलिए यह बिजली के झटके के प्रति सुरक्षा प्रदान करता है।

2. इन्सुलेशन की विफलता के बाद भी भू-योजन लघुपथ विद्युत धारा को प्रवाहित होने के लिए सबसे आसान मार्ग प्रदान करता है।

3. भू-योजन उच्च वोल्टेज प्रोत्कर्ष और आकाशीय बिजली के निर्वहन से उपकरण और व्यक्तिओं की रक्षा करता है।

QUESTION: 14

भू-योजन में ग्राउंड रॉड को क्यों जोड़ा जाता है?

Solution:

चूंकि प्रत्येक ग्राउंड रॉड के पास भू-प्रतिरोध बहुत अधिक होगा, उसमें दूसरा ग्राउंड रॉड जोड़कर हम समग्र ग्राउंडिंग प्रतिरोध को थोड़ा कम कर सकते हैं। सर्वश्रेष्ठ ग्राउंडिंग प्रभाव प्राप्त करने के लिए ग्राउंड रॉड को 7.6 मीटर के अंतर पर जोड़ने की आवश्यकता होती है।

QUESTION: 15

व्यवहारतः, पृथ्वी को शून्य विद्युत क्षमता के स्थान के रूप में क्यों चुना जाता है?

Solution:

पृथ्वी को शून्य विद्युत क्षमता के स्थान के रूप में चुना जाता है क्योंकि इसका विभव लगभग स्थिर होता है।

QUESTION: 16

टॉवर के नींव के प्रतिरोध को कम करने के लिए किसका उपयोग करना बेहतर होता है?

Solution:

टॉवर के नींव के प्रतिरोध जमीन के अपव्यय के लिए टावर के नींव द्वारा प्रदान किया गया प्रतिरोध है। प्रभावी ग्राउंड तार काफ़ी हद तक टावर के नींव के प्रतिरोध पर निर्भर करता है। टावर के शीर्ष का विभव इस प्रतिरोध पर निर्भर करता है।

टावर के नींव के प्रतिरोध के कम मान के परिणामस्वरूप लाइन इन्सुलेशन में कम वोल्टेज तनाव होता है। ई.एच.वी. लाइनों के लिए 20 ओम और एच.वी. लाइनों के लिए 10 ओम का टावर के नींव के प्रतिरोध पर्याप्त बिजली संरक्षण प्रदान करता है।

टॉवर के नींव का प्रतिरोध निम्न पर निर्भर करता है

1) नियोजित इलेक्ट्रोड विन्यास का प्रकार

2) मृदा प्रतिरोधकता

3) इलेक्ट्रोड का आकार (गोलार्द्ध, ऊर्ध्वाधर संचालित रॉड, और भूमिगत क्षैतिज तारें)

टॉवर ग्राउंडिंग के तरीके इस प्रकार हैं:

भूमिगत चालक: एक या अधिक चालक टॉवर के तल से जुड़े हुए होते हैं और टावर की नींव के आसपास के हिस्सों में भूमिगत किए जाते हैं। इसका उपयोग तब किया जाता है जब मिट्टी की प्रतिरोधकता कम होती है।

प्रतिभार तार: 50 मीटर की तार/पट्टी की लंबाई जमीन के नीचे 0.5 मीटर की गहराई पर क्षैतिज रूप से भूमिगत की जाती है। यह तार टॉवर के तल से जुड़ा हुआ होता है। इसका उपयोग तब किया जाता है जब भू-प्रतिरोध बहुत अधिक होता है और मिट्टी की चालकता ज्यादातर ऊपरी परत तक ही सीमित होती है।

ग्राउंड रॉड: 3 से 4 मीटर की पाइप/रॉड टॉवर के पास जमीन में संचालित होती है और रॉड का शीर्ष उपयुक्त तार/पट्टी से टॉवर से जुड़ा हुआ होता है। इसका उपयोग वहां किया जाता है जहां गहराई के साथ भूमि की चालकता में वृद्धि होती है।

उपचारित भू-गर्त: 3 से 4 मीटर की पाइप/रॉड को उपचारित भू-गर्त में भूमिगत किया जाता है और रॉड के शीर्ष उपयुक्त तार/पट्टी से टॉवर से जुड़े हुए होते हैं। इसका उपयोग टॉवर के पास बहुत अधिक प्रतिरोधकता में किया जाता है।

टॉवर के नींव के प्रतिरोध को कम करने के लिए, केवल ग्राउंड रॉड और प्रतिभार का उपयोग करना बेहतर होता है।

QUESTION: 17

पृथ्वी के प्रतिरोध में निम्न में से क्या शामिल होता है?

A. इलेक्ट्रोड से दूर मिट्टी का प्रतिरोध

B. इलेक्ट्रोड और मिट्टी के बीच संपर्क प्रतिरोध

C. धातु इलेक्ट्रोड का प्रतिरोध

Solution:

पृथ्वी के इलेक्ट्रोड द्वारा विद्युत धारा के प्रवाह के लिए प्रस्तावित प्रतिरोध को पृथ्वी प्रतिरोध या पृथ्वी के प्रतिरोध के रूप में जाना जाता है। इसमें निम्न शामिल होते हैं

1) इलेक्ट्रोड से दूर मिट्टी का प्रतिरोध

2) इलेक्ट्रोड और मिट्टी के बीच संपर्क प्रतिरोध

3) धातु इलेक्ट्रोड का प्रतिरोध

QUESTION: 18

______आकार के एल्यूमीनियम चालक का उपयोग घरेलू तारों में उप परिपथ के लिए किया जाता है।

Solution:

घरेलू तारों में उप परिपथ के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले एल्यूमीनियम चालक का आकार 1/1.4 घरेलू तारों में उप परिपथ के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले एल्यूमीनियम चालक का आकार

QUESTION: 19

अस्थायी शेड के लिए वायरिंग का कौन-सा प्रकार अत्यधिक उपयुक्त होता है?

Solution:

क्लिट वायरिंग अस्थायी शेड के लिए सबसे उपयुक्त वायरिंग है।

QUESTION: 20

भू-योजन के इलेक्ट्रोड को इमारत से कितनी दूरी (मीटर में) के भीतर रखा जाना चाहिए, जिनकी स्थापना प्रणाली का भू-योजन किया जाने वाला हो?

Solution:

भारतीय मानक द्वारा अनुशंसित भू-योजन इलेक्ट्रोड के संबंध में विभिन्न विनिर्देश नीचे दिए गए हैं।

1. एक भू-योजन इलेक्ट्रोड को उस इमारत जिसकी स्थापना प्रणाली भू-योजन किया जाने वाला हो, उसके नजदीक कम से कम 1.5 मीटर से अधिक की दूरी पर स्थित नहीं किया जाना चाहिए।

2. सुरक्षा प्रतिरोध रिले या ब्लो फ्यूज को संचालित करने के लिए पर्याप्त धारा प्रवाह प्राप्त करने के लिए पृथ्वी प्रतिरोध पर्याप्त मात्रा में कम होना चाहिए। इसका मान स्थिर नहीं होता है क्योंकि यह मौसम के साथ बदलता है क्योंकि यह आर्द्रता पर निर्भर करता है (लेकिन 1 ओम से कम नहीं होना चाहिए) ।

3. भूमिगत तार और पृथ्वी इलेक्ट्रोड एक ही पदार्थ के होंगे।

4. भू-योजन इलेक्ट्रोड को हमेशा भूमिगत या गड्ढे के अंदर एक ऊर्ध्वाधर स्थिति में रखा जाना चाहिए, ताकि यह सभी पृथ्वी की विभिन्न परतों के संपर्क में रहे।

Use Code STAYHOME200 and get INR 200 additional OFF
Use Coupon Code