Machine Design 1 MCQ


20 Questions MCQ Test Mock Test Series for SSC JE Mechanical Engineering (Hindi) | Machine Design 1 MCQ


Description
This mock test of Machine Design 1 MCQ for Mechanical Engineering helps you for every Mechanical Engineering entrance exam. This contains 20 Multiple Choice Questions for Mechanical Engineering Machine Design 1 MCQ (mcq) to study with solutions a complete question bank. The solved questions answers in this Machine Design 1 MCQ quiz give you a good mix of easy questions and tough questions. Mechanical Engineering students definitely take this Machine Design 1 MCQ exercise for a better result in the exam. You can find other Machine Design 1 MCQ extra questions, long questions & short questions for Mechanical Engineering on EduRev as well by searching above.
QUESTION: 1

जिस प्रकार का रिवेट किया हुआ जोड़ चित्र में दिखाया गया है, वह जोड़ कौनसा है?

Solution:

एक लैप जोड़ वह है जिसमें एक प्लेट दूसरे प्लेट को अतिव्यापित कर लेता है और दोनों प्लेटों को रिवेट से जोड़ दिया जाता है।

एक बट जोड़ वह है जिसमें मुख्य प्लेटों को इस प्रकार संरेखण में रखा जाता है, कि प्लेटों के शीर्ष एक दुसरे के संपर्क में होते हैं (अर्थात स्पर्श करते हैं) और एक आवरण प्लेट (अर्थात पट्टी) को मुख्य प्लेटों के एक तरफ़ या दोनों तरफ़ रखा जाता है।

एक एन-रिवेट किया हुआ जोड़ वह है जिसमें एक लैप जोड़ में एन संख्या में रिवेटों की पंक्तियाँ होती हैं और जिसमें बट जोड़ में दोनों तरफ़ एन संख्या में रिवेट होते हैं।

प्रस्तुत चित्र दोहरा रिवेट किया हुआ लैप जोड़ दर्शाता है।

जब इन विभिन्न पंक्तियों में रिवेट एक दूसरे के सामने होते हैं, जैसा चित्र में दर्शाया गया  है, तब जोड़ को चैन रिवेटिंग कहा जाता है। दूसरी तरफ़, यदि निकटवर्ती पंक्तियों में रिवेट इस तरीके से मौजूद होते हैं कि हर रिवेट सामने वाली पंक्ति के दो रिवेटों के बीच में हो, तब जोड़ को ज़िग-ज़ैग तरीके से रिवेट से जोड़ा हुआ कहा जाता है।

QUESTION: 2

पाइप पर चूड़ीकार्य करते समय कटाव तेल का मुख्य कार्य क्या होता है?

Solution:

मशीनिंग में कटाव घोल के प्राथमिक कार्य निम्न रूप से हैं:

  • मुख्य रूप से कम कटाव गति पर कटाव प्रक्रिया को स्नेहन प्रदान करना
  • मुख्य रूप से तीव्र कटाव गति पर कार्यवस्तु को शीतलता प्रदान करना
  • कटाव के कार्यक्षेत्र से छीलन हटाना
  • संक्षारण के खिलाफ मशीन उपकरण और कार्यक्षेत्र को संरक्षण प्रदान करना
QUESTION: 3

डिस्क या प्लेट क्लच द्वारा प्रेषित घर्षण बलाघूर्ण _______ बियरिंग के समान होता है।

Solution:

QUESTION: 4

एक लीड पेंच जिसके आधे नट खराद में हैं, और जो दोनों दिशाओं में घूर्णन करने के लिए स्वतंत्र है, उस में निम्न में से क्या होता है?

Solution:

लीड पेंच एक बड़ा पेंच होता है जिस में प्रति इंच कुछ चूड़ीयाँ होती हैं और इसे चूड़ी काटने के लिए उपयोग किया जाता है। इसमें आधे नट की आसान नियुक्ति और रिहाई के लिए 29o के कोण के साथ एक्मे चूड़ीयाँ होती हैं।

QUESTION: 5

घर्षण कोण 30° व वर्गाकार चूड़ियों वाले एक स्क्रू जैक की अधिकतम दक्षता क्या होगी?

Solution:

स्क्रू जैक की अधिकतम दक्षता है:

QUESTION: 6

धीमी गति से बहुत भारी भार ले जाने के लिए सबसे उपयुक्त बेयरिंग_______है।

Solution:

एक बियरिंग को जलस्थैतिक बियरिंग कहा जाता है यदि शाफ्ट/जर्नल की सतह के साथ एक स्थिर द्रव (तरल या वायु) होता है जहाँ तरल पदार्थ की बाहरी रूप से आपूर्ति की जाती है और दबाव आमतौर पर बाहरी पंप  द्वारा बनाए रखा जाता है; इस प्रकार यह संपर्क संचालन और भार का समर्थन करने की क्षमता को सक्षम बनाता है। जलस्थैतिक बियरिंग जर्नल के घूर्णन के बिना बड़े भार का समर्थन कर सकते हैं और बड़ी (सटीक और नियंत्रित) प्रत्यक्ष कठोरता और साथ ही साथ अवमंदक (ऊर्जा अपव्यय) गुणांक प्रदान कर सकते हैं।

जलद्रवगतिक बियरिंग के लिए उच्च घूर्णन प्रति मिनट पर उच्च गति जर्नल द्वारा दबाव विकसित किया जाता है, स्नेहक की पतली परत के संचलन में यह सहायक होता है। जर्नल बियरिंग के लिए मुख्य रूप से अभिसारी तरल को नियोजित किया जाता है।

QUESTION: 7

रिवेट किए हुए जोड़ की तुलना में वेल्डर जोड़ की शक्ति ____ है।

Solution:

वेल्डर जोड़ स्थायी जोड़ हैं और रिवेट किए हुए जोड़ अर्द्ध स्थायी जोड़ हैं। वेल्डर जोड़ की ताकत कीलक जोड़ से अधिक है।

QUESTION: 8

इनमें से कौन एक स्थायी बंधक है?

Solution:

रिवेटों का इस्तेमाल प्लेटों के बीच स्थायी बंधन बनाने के लिए होता है जैसे संरचनात्मक कार्यों में, जहाज निर्माण, पुल, टैंकों और बॉयलर खोल में।

एक पेंच से कसे हुए जोड़ के मुख्य रूप से दो अंग होते हैं, एक बोल्ट और नट। ये जोड़ वहां व्यापक रूप से इस्तेमाल किये जाते हैं जहाँ मशीन के हिस्सों को सहज से व बिना मशीन या बंधक को नुक्सान पहुचाये जोड़ने और अलग करने की ज़रूरत पड़ती है।

कुंजी सौम्य इस्पात का एक टुकड़ा है जो शॉफ्ट और पुली के हब या बॉस को जोड़ने के लिए इनके बीच में डाला जाता है, ताकि इनके बीच की सापेक्ष गति को रोका जा सके। यह हमेशा शॉफ्ट की धुरी के समानांतर डाला जाता है। कुंजी अस्थायी बंधक के रूप में उपयोग किया जाता है और पर्याप्त संदलन और अपरूपण तनाव के अधीन होता है।

QUESTION: 9

एक भाप इंजन में वाल्व छड़ एक उत्केंद्रित छड़ से किस के माध्यम से जुड़ा हुआ होता है?

Solution:

तनन भार के तहत दो छड़ों को जोड़ने के लिए एक गाँठ जोड़ का उपयोग किया जाता है। यह संयुक्त छड़ के कोणीय गैर-संरेखण को अनुमति देता है और अगर इसे निर्देशित किया जाए तो यह संकुचित लोड ले सकता है। स्वचालित इंजन पिस्टन पिस्टन पिन के माध्यम से कनेक्टिंग रॉड के छोटे छोर से जुड़ा हुआ होता है। यह गाँठ जोड़ का एक मुख्य उपयोग है। भाप इंजन में वाल्व छड़ उत्केंद्रित छड़ से एक गाँठ जोड़ के माध्यम से जुड़ा हुआ होता है।

QUESTION: 10

दो शॉफ्ट की धुरी एक सीधी रेखा में नहीं हैं और सामानांतर भी नहीं हैं, बल्कि एक दुसरे को प्रतिच्छेद कर रही हैं। इस प्रकार के शॉफ्ट के लिए इनमें से कौन सा युग्मन इस्तेमाल किया जा सकता है?

Solution:

लचीले युग्मक आमतौर पर बलाघूर्ण को एक शॉफ्ट से दुसरे शॉफ्ट में प्रेषित करने के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं जब दो शॉफ्ट पूरी तरीके से संरेखित नहीं होते हैं। ये 3° तक के विभिन्न डिग्रियों के गैर-संरेखण एवं कुछ सामानांतर गैर-संरेखण को समायोजित कर सकते हैं।

युनिवर्सल युग्मक एक सख्त युग्मक है जो दो शॉफ्टों को जोड़ता है, जिसकी धुरी विस्तारित होने पर प्रतिच्छेद करती हैं।

ओल्डम युग्मक दो समांतर शॉफ्टों को जोड़ने के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिसकी धुरी थोड़े अंतर पर होती हैं।

QUESTION: 11

यदि एक रिवेट किए हुए जोड़ की फाड़ दक्षता 60% है, तो रिवेट छिद्र व्यास से रिवेट के पिच का अनुपात क्या होगा?

Solution:

QUESTION: 12

वह तनाव जो कि धातु पर बिना भंग के अनिश्चित काल के लिए आरोपित किया जा सकता है, क्या कहलाता है?

Solution:

सहनशीलता सीमा (Se), श्रम सीमा के नाम से भी जानी जाती है। इस तनाव सीमा के नीचे कार्यवस्तु पर चक्रीय तनाव को बिना किसी असफलता के अनिश्चित काल के लिए आरोपित किया जा सकता है।

QUESTION: 13

बहु V पट्ट संचालन में जब एक एकल पट्ट क्षतिग्रस्त होता है, तो पूर्ण सेट को ही बदलना बेहतर माना जाता है, क्योंकि?

Solution:

असंरेखण और अनुचित बेल्ट तनाव शीव में समय से पूर्व घिसाव ला सकता है और जब यह होता है, तो पूर्व की सपाट खांचे वाली साइडवॉल अवतल आकार ले सकती है और पट्ट से मिलती सतह क्षतिग्रस्त हो सकती है। नष्ट होती शीव साइडवॉल वी - पट्ट की क्षमता 12% तक कम कर सकती है। इसलिए इसे परिवर्जित करने के लिए जब एक पट्ट क्षतिग्रस्त होता है तो समुचित संरेखण को सुनिश्चित करने के लिए सम्पूर्ण सेट को बदलना उत्तम होता है।

QUESTION: 14

बी.एस.डब्ल्यू. चूड़ी का चूड़ी कोण डिग्री में क्या होगा?

Solution:

ब्रिटिश मानक व्हिटवर्थ (बी.एस.डब्ल्यू.) चूड़ी प्रकार की मुख्य विशेषता यह है कि, चूड़ी के फ्लेंक के मध्य कोण 55 डिग्री होता है और चूड़ी के शीर्ष और गर्त दोनों भाग त्रिज्यीय होते हैं।

QUESTION: 15

खंडयुक्त अनुप्रस्थ काट वाली बेलनाकार चकती से बनी कुंजी किस नाम से जानी जाती है?

Solution:

वुडरफ की एक आसानी से समायोज्य कुंजी है। यह बेलनाकार चकती का एक भाग होता है जिसका अनुप्रस्थ काट खंडयुक्त होता है। यह कुंजी अधिकतर यांत्रिक उपकरणों और स्वचालित निर्माण कार्य में प्रयुक्त होती है।

जोड़ी के एक अवयव से जुड़ी हुई कुंजी जो कि सापेक्ष अक्षीय गति प्रदान करती है, उसे "फेदर की" कहा जाता है। यह एक विशेष प्रकार की समानांतर की है जो कि मोड़ आघूर्ण को संचारित करती है और अक्षीय गति भी प्रदान करती है।

फ्लैट सैडल की एक तिर्यक कुंजी होती है जो कि हब में स्थित की-वे में फिट होती है और शाफ्ट में सपाट होती है। एक होलो सैडल की एक तिर्यक कुंजी है जो हब में एक की-वे में फिट होती है और कुंजी के नीचे का हिस्सा शाफ़्ट की वक्र सतह में फिट होने के लिए आकारित किया जाता है।

गिब हेड की एक आयताकार की होती है जिसका एक शीर्ष गिब शीर्ष कहलाता है। यह सामान्यतः गिब को निकालने के लिए उपलब्ध कराया जाता है।


QUESTION: 16

निम्न में से कौन सा क्लच धनात्मक क्लच है?

Solution:

जब धनात्मक चालन आवश्यक होता है तो धनात्मक क्लच प्रयुक्त होते हैं। सबसे सामान्य प्रकार के धनात्मक क्लच एक जॉ क्लच या क्लॉ क्लच होता है।

घर्षण क्लच: एक चलित शाफ़्ट को विराम अवस्था से चालू करने के लिए एक घर्षण बल का उपयोग किया जाता है और यह बल घर्षण सतहों के अत्यधिक फिसलन के बिना इसे क्रमशः उचित गति तक लाता है। उदाहरणार्थ: चकती या पट्ट क्लच, शंकु क्लच, अपकेंद्री क्लच।

QUESTION: 17

एकसमान लम्बाई के बोल्ट में क्या होता है?

Solution:

सामान्य परिस्थिति जहाँ, बोल्ट में झटके या संघात भार आरोपित होता है, बोल्ट के चूड़ी किए हुए हिस्से में शैंक की तुलना में अधिक तनाव होता है। इसलिए ऊर्जा का एक बड़ा भाग चूड़ी किए हुए हिस्से में अवशोषित हो जाता है जो कि चूड़ी किए हुए हिस्से को इसकी छोटी लम्बाई के कारण तोड़ सकता है।

यदि बोल्ट के शैंक को मूल व्यास के बरावर या उससे थोडा कम कर दिया जाये तो इस पर तनाव बहुत अधिक हो जाएगा। अर्थात शैंक ऊर्जा का एक बड़ा भाग अवशोषित कर लेता है इस प्रकार चूड़ी के पास के भाग पर पदार्थ को मुक्त कर देता है। इस प्रकार बोल्ट मजबूत और हल्का हो जाता है और तन्यता गुणांक बढ़ने से यह इसकी अवशोषण क्षमता को बढ़ा देता है। यह हमें एकसमान मजबूती का बोल्ट देता है।

घटे हुए शेंक व्यास के साथ एक समान मजबूती का बोल्ट

एक समान मजबूती के बोल्ट को प्राप्त करने का अन्य तरीका यह है कि शीर्ष से चूड़ी क्षेत्र तक एक अक्षीय छिद्र इस प्रकार बनाया जाए कि शैंक का क्षेत्र चूड़ी के मूल क्षेत्र के बराबर हो जाए।

 

वेधित छिद्र के साथ एक समान मजबूती का बोल्ट

QUESTION: 18

द्रवस्थैतिक बियरिंग में, स्नेहन तक दाब किस प्रकार स्थानांतरित किया जाता है?

Solution:

द्रव बियरिंग वह बियरिंग होती है जिसमें बियरिंग सतहों के मध्य भार को, तीव्रता से गति करते हुए द्रव जिस पर दाब आरोपित होता है के द्वारा आधार दिया जाता है।

ये मुख्यतः दो प्रकारों में विभाजित है:

द्रव गतिशील बियरिंग/ द्रवगतिकीय बियरिंग: इन बियरिंग में अधिकतम दाब आरोपित होता है जहाँ द्रव सामान्यतः तेल, जल या वायु होता है और दाब, पंप के द्वारा आरोपित किया जाता है।

द्रवगतिकीय बियरिंग: सतहों के मध्य द्रव को दाबित करने के लिए ये जर्नल (शाफ़्ट का वह भाग जो द्रव पर विश्राम करता है) की उच्च गति पर आधारित होती है।

QUESTION: 19

एकरूप वियर परिकल्पना में दाब वितरण किस प्रकार का होता है?

Solution:

माना कि, क्लच के अक्ष से r दूरी पर दाब की सामान्य तीव्रता p है।

चूँकि, एकरूप वियर परिकल्पना में दाब की तीव्रता दुरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होती है,

∴ p.r = C (एक स्थिरांक)

QUESTION: 20

निम्न में से कौन सी बियरिंग स्वतःसंरेखित बियरिंग है?

Solution:

एक गोलीय समतल बियरिंग वह बियरिंग होती है जो कि दो आयतीय दिशाओं में एक केन्द्रीय बिंदु के मध्य कोणीय घूर्णन को अनुमति देती है। आंतरिक रिंग की बाह्य सतह और बाह्य रिंग की आंतरिक सतह गोलीय होती है और इन्हें एक साथ रेस-वे माना जाता है और वे एक दुसरे के विपरीत फिसलते हैं। बाह्य रिंग रेस-वे में गोले का केंद्र बियरिंग के अक्ष में होता है। इसलिए बियरिंग स्वतःसंरेखित होती है और हाउसिंग के सापेक्ष शाफ्ट गैर-संरेखित होने के प्रति गैर-संवेदनशील होती है जो कि उदाहरणार्थ शाफ्ट विचलन के द्वारा होती है। गोलीय रोलर बियरिंग भारी त्रिज्यीय भार के साथ - साथ भारी अक्षीय भार को सहने के लिए बनाये जाते हैं।

Related tests