Test: Engineering Mechanics - 2


20 Questions MCQ Test Mock Test Series for SSC JE Mechanical Engineering (Hindi) | Test: Engineering Mechanics - 2


Description
Attempt Test: Engineering Mechanics - 2 | 20 questions in 12 minutes | Mock test for Mechanical Engineering preparation | Free important questions MCQ to study Mock Test Series for SSC JE Mechanical Engineering (Hindi) for Mechanical Engineering Exam | Download free PDF with solutions
QUESTION: 1

चिकने तल पर विश्राम करती और ऊर्धवाधर दीवार पर खड़ी सीढ़ी पर घर्षण बल कहाँ आरोपित होगा?

Solution:
QUESTION: 2

एक निकाय 25 मीटर त्रिज्या के वक्रीय पथ पर 10 मी/ सेकंड की गति से गति कर रहा है। यदि स्पर्शीय त्वरण 3 मी/ वर्ग सेकंड है तो निकाय के लिए कुल त्वरण क्या होगा?

Solution:

सामान्य घटक:  an = v2/r = (10)2/(25) = 4a 

QUESTION: 3

800 न्यूटन भार का एक व्यक्ति लिफ्ट के तल पर रखे भार मापक पर अपना भार मापता है। यदि लिफ्ट ऊपर की ओर 5 मी/ सेकंड की दर से जा रही है तो भार मापक क्या मान बताएगा?

Solution:

व्यक्ति भार मापक पर नीचे की ओर बल लगाता है, और भार मापक व्यक्ति पर ऊपर की ओर समान (लेकिन विपरीत) बल Fलगाता है। इसलिए, भार मापक का पठन सामान्य बल का परिमाण, Fहोगा।

FN – FW = ma ⇒ FN – mg = ma

⇒ FN = ma + mg = m (a + g) = (W/g) (a + g) = (800/10) (10 + 5)

FN = 1200 N

QUESTION: 4

30 न्यूटन और 40 न्यूटन के दो बल 90 डिग्री पर एक दूसरे पर कार्य कर रहे हैं। परिणामी बल क्या होगा?

Solution:

बल P और Q के बीच, θ कोण पर लागू, परिणामी बल इस प्रकार है:

QUESTION: 5

एक पंखा 20 वाट विद्युत् शक्ति की खपत करता है, और वातानुकूलित कक्ष से 0.25 किग्रा/ सेकंड से वायु का निर्वहन कर रहा है। अधिकतम वायु निर्गम गति लगभग क्या होगी?

Solution:

किसी निश्चित दर पर विद्युत् शक्ति की खपत करते हुए एक पंखा वायु की गति को एक निश्चित मान तक बढाता है। विद्युत् शक्ति इनपुट, वायु की गतिज ऊर्जा में वृद्धि की दर के बराबर होती है।

QUESTION: 6

निम्न में से किस बल का परिणामी बल शून्य होता है?

Solution:

साम्यावस्था निकाय की वह स्थिति है जब निकाय बलों की प्रणाली के अधीन होता है। यदि परिणामी बल शून्य के बराबर है तो यह दर्शाता है कि बलों की प्रणाली का कुल परिणाम शून्य है और यही अवस्था साम्यावस्था को दर्शाती है।

QUESTION: 7

एक व्यक्ति उसे त्वरण के साथ ऊपर ले जाती लिफ्ट में भारमापी के ऊपर खड़ा है। भारमापी पर पठन क्या होगा?

Solution:

न्यूटन के गति के द्वितीय नियम से:

R−mg = ma ⇒ R = m(g+a)

इसलिए प्रत्यक्ष भार व्यक्ति के वास्तविक भार से अधिक होगा।

QUESTION: 8

1000 किग्रा की एक लिफ्ट ऊपर की ओर एकसमान त्वरण के साथ 4 मी/ सेकंड की गति 2 सेकंड में प्राप्त कर लेती है। सहायक तारों पर कितना तनाव होगा?

Solution:

बल = T - W

ma = T - W

दिया गया त्वरण

दिया गया तनाव

T = mg + ma = m (g + a)

T = 1000 (10 + 2)

T = 12000 N

QUESTION: 9

आरेख में दर्शाये अनुसार एक बार्ज दो टगबोट के द्वारा खींचा जा रहा है। टगबोट के द्वारा आरोपित बल का परिणामी बल 1000 किग्रा है। रस्सी 2 में तनाव न्यूनतम रखने के लिए θ का मान क्या होगा?

Solution:
QUESTION: 10

100 किग्रा भार के एक निकाय पर 5 मी/ वर्ग सेकंड का त्वरण उत्पन्न करने के लिए कितना बल आवश्यक होगा?

Solution:

न्यूटन के गति के द्वितीय नियम के अनुसार:

 

F = ma = 100×5 = 500kg−m/s2

QUESTION: 11

एक रबड़ की गेंद को 2 मीटर की ऊंचाई से गिराया जाता है। यदि कोई गति हानि नहीं होती है, तो एक बार टकराने के बाद गेंद कितनी ऊंचाई तक ऊपर जायेगी?

Solution:

ऊर्जा का संरक्षण:

P.E1 + K.E1 = P.E2 + K.E2

चूँकि, यहाँ गति में कोई हानि नहीं होती है, इसलिए

QUESTION: 12

एक 50 किग्रा का बक्सा एक क्षैतिज तल में रखा है जिसके लिए घर्षण गुणांक का मान 0.3 है। यदि बक्से को 400 न्यूटन के एक क्षैतिज बल से खींचा जाता है तो विश्राम से 5 सेकंड के बाद उसकी गति क्या होगी? (g = 10 मीटर/ सेकंड2)

Solution:
QUESTION: 13

एक तोप के गोले को तल से 80 मीटर ऊँचाई के एक मीनार से 100 मी/सेकंड की क्षैतिज गति से दागा जाता है। वह क्षैतिज दूरी ज्ञात कीजिये जिस पर वह गोला तल पर गिरेगा? (g = 10 मीटर/सेकंड2  लीजिये)

Solution:
QUESTION: 14

एक पानी से भरी बाल्टी जिसका भार 10 किग्रा है, उसे 20 मीटर गहराई के एक कुएँ से 1 किग्रा भार की रस्सी के द्वारा खींचा जा रहा है। इस प्रक्रिया में कितना कार्य किया गया है?

Solution:

माना x दुरी पर, 10 किग्रा भार की बाल्टी और x किग्रा भार की रस्सी को खीचा जाता है।

इसलिए कुल भार (10 + x) है

किया गया कार्य 

QUESTION: 15

गिरते हुए निकाय की गतिज ऊर्जा और स्थितिज ऊर्जा का योग क्या होता है?

Solution:

गतिज ऊर्जा (KE = 1/2 mv2) गति के कारण द्रव्यमान में निहित ऊर्जा को दर्शाती है। इसी प्रकार, स्थितिज ऊर्जा (PE = mgh) स्थिति के कारण द्रव्यमान में निहित ऊर्जा को दर्शाती है।

E = KE + PE

द्रव्यमान की कुल ऊर्जा E है: अर्थात इसकी गतिज और स्थितिज ऊर्जा का योग। यह स्पष्ट है कि E एक संरक्षित राशि है। हालांकि, जब द्रव्यमान गिरता है तो इसकी गतिज और स्थितिज ऊर्जा के मान में बदलाव आता है जबकि इसकी कुल ऊर्जा संरक्षित रहती है। ऊर्जा केवल एक रूप से दुसरे रूप में बदलती है।

QUESTION: 16

अनुभाग के प्रमुख अक्ष के सन्दर्भ में कौनसा कथन सत्य है?

Solution:
QUESTION: 17

यदि सीधी टक्कर करने वाले दो निकायों की प्रारंभिक गति vऔर vहै और टक्कर के बाद उनकी गति क्रमश: uऔर uहै तो प्रत्यानयन गुणांक किस व्यंजक के द्वारा दिया जा सकता है?

Solution:

टक्कर के दौरान ऊर्जा में क्षय को प्रत्यानयन गुणांक कहते हैं। यह एक अदिश राशी है|

QUESTION: 18

रेखीय गति में कण की स्थिति निम्न समीकरण के द्वारा दी जाती है (x = t3 - 2t2 + 10t - 4), जहाँ x मीटर में है और t सेकंड में है। 3 सेकंड में कण की गति क्या होगी?

Solution:

स्थिति  (x) = t3 – 2t2 + 10t – 4

गति (v) = dx/dt = 3t− 4t + 10

t = 3 सेकंड पर

V = 3 × 32 – 4 × 3 + 10 = 25 मीटर/ सेकंड

QUESTION: 19

N घूर्णन प्रति मिनट की गति से घूर्णन कर रहे निकाय की कोणीय गति (रेडियन/ सेकंड) क्या होगी?

Solution:

घूर्णन प्रति मिनट इस बात का मापन है, कि एक बिंदु प्रति मिनट कितनी बार घूम रहा है।

एक घूर्णन में एक बिंदु के द्वारा घूर्णित कोण = 2π

इसलिए, प्रति मिनट में बिंदु के द्वारा घूर्णित कोण = N x 2π

कोणीय गति इस बात का मापन है, कि यह कितनी तीव्रता से घूम रहा है = घूर्णित कोण/आवश्यक समय = 2πN/60

QUESTION: 20

प्रक्षेप्य के प्रक्षेपण का कोण अधिकतम क्षैतिज सीमा के लिए कितना होना चाहिए?

Solution:

क्षैतिज सीमा, 

अधिकतम क्षैतिज सीमा के लिए.

Sin 2α = 1

या, 2α = 90°

या, α = 45°

Use Code STAYHOME200 and get INR 200 additional OFF
Use Coupon Code