Irrigation Engineering - 2 MCQ


20 Questions MCQ Test Mock Test Series of SSC JE Civil Engineering (Hindi) | Irrigation Engineering - 2 MCQ


Description
Attempt Irrigation Engineering - 2 MCQ | 20 questions in 12 minutes | Mock test for Civil Engineering (CE) preparation | Free important questions MCQ to study Mock Test Series of SSC JE Civil Engineering (Hindi) for Civil Engineering (CE) Exam | Download free PDF with solutions
QUESTION: 1

निम्नलिखित में से कौन सा कथन फव्वारा सिंचाई पद्धति के लिए सही है?

Solution:

इस विधि में भूमि पर सिंचाई का पानी फव्वारे के रूप में छिड़का जाता है। फव्वारा सिंचाई चावल और जूट की फसल को छोड़कर बाकि सभी फसलों के लिए और कम रिसाव दर वाली बहुत भारी मिट्टी को छोड़ कर लगभग सभी प्रकार मिट्टी के लिए की जाती है।

इस विधि में, सीमाओं और क्षेत्र चैनलों की आवश्यकता नहीं है और इसलिए फसल के लिए अधिक भूमि उपलब्ध होती है।

QUESTION: 2

सिंचाई टैंक की क्षमता किस बात पर निर्भर करती है?

Solution:

टैंक से पानी निकालने की दर को टैंक की क्षमता के रूप में जाना जाता है। सिंचाई टैंक की क्षमता फसल के प्रकार और इसकी पावंदी पर निर्भर करती है।

QUESTION: 3

अम्लीय मिट्टी को किस के द्वरा पुनःप्राप्त किया जाता है?

Solution:

Na2CO3, Na2SO4 और NaCl जैसे हानिकारक लवणों की उपस्थिति के कारण, मृदा लवणीय हो जाती है जो प्रस्फुटन का कारण बनती है, और यदि यह लंबे समय तक लगातार जारी रहता है तो मिट्टी क्षारीय हो जाएगी। इस प्रकार की मिट्टी को निक्षालन, फसल चक्रण, उप सतह जल निकासी क्षेत्र, जिप्सम आदि के द्वारा कृषि योग्य बनाया जाता है।

दूसरी तरफ, अम्लीय मिट्टी को चूना पत्थर जैसे मूलभूत लवणों द्वारा कृषि योग्य बनाया जा सकता है।

QUESTION: 4

एक विशेष जलोढ़क के लिए लेसी का गाद कारक 2.0 है। इस जलोढ़क में क्या पाया जा सकता है?

Solution:

लेसी का गाद कारक इस प्रकार होता है-

QUESTION: 5

एक नियंत्रण बाँध क्या है?

Solution:

नियंत्रण बांध जल संचयन के उद्देश्य के लिए उथली नदियों और धाराओं पर जल प्रवाह की दिशा में निर्मित छोटी रुकावटें हैं। संरचना के पीछे एक छोटे से जलग्रह क्षेत्र में मानसून बारिश के दौरान छोटे बांध अतिरिक्त जल प्रवाह एकत्रित कर लेते हैं।

प्रक्रिया: जलग्रह क्षेत्र में निर्मित दबाव अवरूध्द पानी को जमीन में प्रवाहित होने के लिए मदद करता है।

इसका प्रमुख पर्यावरणीय लाभ आसपास के भूजल भंडार और कुओं की भराई है। बांध, सतह और उप-सतह से घिरा हुआ पानी मुख्य रूप से मानसून के दौरान सिंचाई में और बाद में शुष्क मौसम के दौरान उपयोग के लिए लिया जाता है, लेकिन इसका उपयोग पशुधन और घरेलू जरूरतों के लिए भी किया जा सकता है।

QUESTION: 6

एक ठोस गुरुत्व बांध की आधार चौड़ाई 25 m है। बांध की सामग्री का विशिष्ट गुरुत्व 2.56 है और बांध को उत्थान को अनदेखा करने वाली प्राथमिक प्रोफ़ाइल के रूप में डिज़ाइन किया गया है। बांध की लगभग स्वीकार्य ऊंचाई क्या है?

Solution:

बांध की प्राथमिक प्रोफ़ाइल के लिए,

बांध की आधार चौड़ाई इस प्रकार दी गई है:

उत्थान नगण्य है, C = 0

QUESTION: 7

बांध के तल में एक निश्चित बिंदु पर, रिसाव के कारण उत्थान दबाव शीर्ष 4.5 m है। यदि कंक्रीट का सापेक्ष घनत्व 2.5 है, तो इस बिंदु पर उत्थान दाब का सामना करने के लिए आवश्यक भूतल की न्यूनतम मोटाई कितनी होगी?

Solution:

भूतल की आवश्यक चौड़ाई इस प्रकार होगी-

QUESTION: 8

एक नदी में, गाद अपवर्जक और गाद निष्कासक का निर्माण कहाँ किया जाता है?

Solution:

गाद अपवर्जक नदीतल पर एवं शीर्ष नियामक के ऊर्ध्वप्रवाह पर बनाये जाते है जबकि गाद निष्कासक नहर के तल एवं शीर्ष नियामक से कुछ दुरी पर अनुप्रवाह पर बनाये जाते हैं।

चूँकि, गाद अपवर्जक गाद को नहर में प्रवेश करने से पहले रोकता है और गाद निष्कासक नहर के पानी से गाद को उस समय निकालता है जब वो निकासी नहर में कुछ दुरी तय कर लेता है।

QUESTION: 9

मिट्टी संरक्षण की सबसे किफ़ायती विधि में:

Solution:

वनीकरण का मतलब पेड़ लगाना है। जैसा कि हम जानते हैं, पेड़ों की जड़ें मिट्टी की परत को मजबूती से पकड़ने में मदद करती हैं, यह स्पष्ट है कि यह मिट्टी को ढीला नहीं करने और क्षरण को रोकने में मदद करता है।

इस प्रकार अधिक से अधिक पेड़ लगाकर, मिट्टी की शीर्ष परत हवा, पानी आदि द्वारा क्षरण के लिए कम प्रवण हो जाती है। इसलिए यह क्षरण को रोकता है और मिट्टी संरक्षण में मदद करता है।

नोट: समोच्च बांधों का निर्माण और नियंत्रण बांधों का निर्माण मूल रूप से जल संचयन तकनीकें हैं।

QUESTION: 10

किसी विशेष फसल के लिए बहिर्गमन निर्वहन किस प्रकार से दिया जाता है?

Solution:

मुख्य जल मार्ग पर पावंदी को "बहिर्गमन निर्वहन कारक" कहा जाता है।

फसल सिंचाई के क्षेत्र और विकास की पूरी अवधि के दौरान आवश्यक पानी की मात्रा के बीच के अनुपात को पावंदी के रूप में जाना जाता है। पावंदी को हेक्टेयर प्रति क्यूमेक में मापा जाता है।

इसलिए,

निर्गमन कारक = क्षेत्रफल/निर्गमन कारक

QUESTION: 11

नहर का संरेखण:

Solution:

i) वह नहर जो *जल विभाजक रेखा* के साथ संरेखित हो, उसे उभाड़ नहर के रूप में जाना जाता है। नहर को देश के समोच्चों के साथ लंबवत संरेखित किया जा सकता है, लेकिन सबसे किफायती मेड नहर है। इस प्रकार की नहर का लाभ यह है, कि यह दोनों तरफ के क्षेत्रों की सिंचाई कर सकती है।

ii) देश के वित्तीय परिप्रेक्ष्य के अनुसार, बाढ़ जैसी परिस्थितियों में समस्याओं की वजह से नहर को हमारे मूल्यवान सम्पतियों के नजदीक स्थित नहीं होना चाहिए।

iii) यह ऐसी होती चाहिए, ताकि संकर जलनिकासी की न्यूनतम आवश्यक संख्या सुनिश्चित हो सके

QUESTION: 12

विसर्पण की प्रति इकाई लंबाई शीर्ष हानि क्या है?

Solution:

ब्लिग के विसर्पण के सिद्धांत के अनुसार, उप-मृदा के साथ तहबन्द की मूल प्रोफ़ाइल के साथ रिसन पानी का स्त्रवण होता है। रिसन पानी द्वारा तय पथ की दूरी विसर्पण दूरी कहलाती है, विसर्पण की प्रति इकाई लंबाई शीर्ष हानि हाइड्रोलिक ढाल या रिसन गुणांक के रूप में जाना जाता है।

QUESTION: 13

एक नदी में, स्पर क्यों प्रदान किए जाते हैं?

Solution:

ऊसन्धि या पर्वत स्कंध का निर्माण किनारे से नदी में फैले नदी प्रवाह के लिए किया जाता है। नदी प्रशिक्षण कार्यों का यह रूप एक या अधिक कार्यों को निष्पादित करता है जैसे कि:

i) जल आक्रमण के बिंदु पर प्रवाह के संकेन्द्रण को कम करने के लिए वांछित जलमार्ग के साथ नदी को अनुवर्धित करना,

ii) आसपास के इलाके में क्षेत्र को शांत करने और प्रवाह को दूर रखकर किनारे की रक्षा के लिए एक मन्द प्रवाह बनाना।

QUESTION: 14

नदी किनारों सुरक्षा कार्यों के लिए जलतोड़ का उपयोग किया जाता है। जब इसे नदी में प्रवाह की दिशा में नीचे की ओर झुकाया जाता है, तो इसे निम्नलिखित में से किस के रूप में लिया जाता है?

Solution:
QUESTION: 15

नहर तल में आम तौर पर एक ड्राप प्रदान की जाती है, यदि:

Solution:

नहर प्रपात एक ठोस चिनाई संरचना है जो नहर पर बनाई जाती है, यदि प्राकृतिक भूमि ढलान डिजाइन किए गए चैनल तल ढलान से अधिक है।

यदि, ढलान में अंतर कम है, तो एकल प्रपात का निर्माण किया जा सकता है। यदि यह अधिक है तो नियमित अंतराल पर प्रपात का निर्माण किया जाता है।

QUESTION: 16

यदि विभिन्न फसलों के लिए आवश्यक निर्वहन क्षेत्र  0.6 Cumecs है और क्षमता कारक और समय कारक क्रमश: 0.8 और 0.5 हैं, तो उसके शीर्ष पर वितरक का डिज़ाइन निर्वहन क्या होगा?

Solution:

डिज़ाइन निर्वहन

QUESTION: 17

यदि वास्तविक आधार के नीचे भेदक की गहराई D है, तो एप्रन की चौड़ाई आमतौर पर कितनी ली जायेगी?

Solution:

वक्र शीर्ष और अग्र किनारों के मध्य भाग पर भारी भेदक पत्थर भराव को कमजोर कर सकता है जिसके परिणामस्वरूप अग्र किनारे विफल हो सकते है। ऐसी विफलता को अग्र किनारों के तल के शीर्ष भाग के दूसरी ओर एप्रन प्रदान करके रोका जा सकता है। प्रदान किये जाने वाले एप्रन की चौड़ाई आम तौर पर 1.5D ली जाती है।

QUESTION: 18

सिंचाई के दौरान जड़ क्षेत्र में संग्रहीत पानी,और सिंचाई से पहले जड़ क्षेत्र में आवश्यक पानी के अनुपात को क्या कहा जाता है?

Solution:

सिंचाई दक्षताएं:

i) जल संवहन की दक्षता, (ηc)

जहाँ, Wf = खेत में लगाया गया पानी

Wr = कुण्ड से लिया गया पानी

ii) जल अनुप्रयोग की दक्षता(ηa)

जहाँ, Ws = जड़ क्षेत्र में भंडारित पानी 

Wf = खेत में लगाया गया पानी

iii) जल अनुप्रयोग की दक्षता (ηu

जहाँ, Wu = क्षय में उपयोगित जल

Wf = खेत में लगाया गया पानी 

iv) जल भंडारण की दक्षता  (ηu

जहाँ, Ws’ = जड़ क्षेत्र में भंडारित वास्तविक जल

Wf = खेत की क्षमता तक जल की सामग्री को लाने के लिए भंडारित किया गया जल

v) जल वितरण दक्षता, (ηd

जहाँ, y = संग्रहीत सिंचाई की औसत गहराई से पानी की गहराई में औसत संख्यात्मक विचलन

d = सिंचाई के दौरान औसत गहराई

vi) क्षय में उपयोगित दक्षता (ηcu

जहाँ, Wcu or Cu = पौधों में क्षय द्वारा उपयोग किया गया जल

Wd = जड़ क्षेत्र से सोखे गए जल की कुल मात्रा

QUESTION: 19

एक स्थिर केंद्र वाले (तल- दृश्य में) आर्च बांध किसके लिए सबसे उपयुक्त है?

Solution:

QUESTION: 20

थिस्सीन के बहुभुज का प्रयोग __________ के निर्धारण के लिए किया जाता है?

Solution:
Use Code STAYHOME200 and get INR 200 additional OFF
Use Coupon Code