Test: Building Materials- 2


20 Questions MCQ Test Mock Test Series of SSC JE Civil Engineering (Hindi) | Test: Building Materials- 2


Description
Attempt Test: Building Materials- 2 | 20 questions in 12 minutes | Mock test for Civil Engineering (CE) preparation | Free important questions MCQ to study Mock Test Series of SSC JE Civil Engineering (Hindi) for Civil Engineering (CE) Exam | Download free PDF with solutions
QUESTION: 1

निम्नलिखित में से किसकी आग प्रतिरोधी क्षमता अधिक है?

Solution:

सघन बलुआ पत्थर: यह एक प्रकार की चट्टान है जिसमें स्फटिक अथवा रेत होती है जो माइका फेल्डस्पार आदि जैसे सीमेंटिंग खनिजों से जुडी हुई होती है।

सघन बलुआ पत्थर में निम्नलिखित गुण होते हैं:

(a) यह एक तलछट चट्टान है

(b) इसका रंग फेल्डस्पार पर निर्भर करता है।

(c) यदि इसमें बेसाल्ट और ग्रेनाइट जैसे उच्च गुणवत्ता वाले पत्थर उपलब्ध नहीं हैं तो इसे अस्फाल्ट के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

(d) यह आग प्रतिरोधी है।

(e) इसका विशिष्ट गुरुत्व 2.25 है

(f) इसकी पिसाई क्षमता 35 से 40 MN/m2 तक होती है।

इन सभी में सघन बलुआ पत्थर में सबसे अधिक आग प्रतिरोधी क्षमता होती है।

QUESTION: 2

अपने प्रमुख घटक के रूप में एल्यूमीनियम या मिट्टी वाली चट्टानों को किस नाम से जाना जाता है:

Solution:

मृण्मय चट्टान: मृण्मय चट्टानें वे तलछट चट्टानें होती हैं जो महीन मिट्टी के कणों से निर्मित होती हैं। इन चट्टानों में मुख्य घटक के रूप में मिट्टी या एल्यूमीनियम होता है। यह चट्टान मिट्टी से बनी होती हैं, जो एल्यूमिना का एक हाइड्रेटेड सिलिकेट है। इस तरह की चट्टान समुद्र या झीलों में बनती हैं। हालाँकि, बाढ़ निक्षेप इन में सामान्य है। उदाहरण के लिए स्लेट, लेटराइट, केओलिन।

तलछट चट्टान: इस प्रकार की चट्टान रेत, मिट्टी आदि के क्रमिक निक्षेप से बनती है। उदाहरण के लिए चूना पत्थर और बलुआ पत्थर।

सिलिका चट्टान: इस प्रकार की चट्टानों में सिलिका मुख्य घटक के रूप में होती है। ग्रेनाइट, क्वार्टजाइट, नाइस सिलिका चट्टान के उदाहरण हैं।

कैल्शियम युक्त चट्टान: कैल्शियम युक्त चट्टान वह चट्टान है जिसमें चूना अथवा कैल्शियम कार्बोनेट मुख्य घटक के रूप में होता है। उदाहरण के लिए चूना पत्थर और संगमरमर

QUESTION: 3

निम्नलिखित में से कौन सी सीमेंट में डाईकेल्सिम सिलिकेट का अधिकतम प्रतिशत होता है?

Solution:

निम्न ऊष्मा सीमेंट: यह सीमेंट C3A और C3S की मात्रा को कम करके और C2S की मात्रा में वृद्धि करके निर्मित की जाती है। यह सीमेंट मंद दर से सख्त होती है। इसमें 46% डाईकेल्सियम सिलिकेट होता है।

नोट: जबकि तीव्रता सख्त होने वाली सीमेंट (जिसका निर्माण C3S के प्रतिशत को बढाकर तथा C2S के प्रतिशत को घटाकर किया जाता है) में केवल (9-10)% ही C2S होता है। साधारण पोर्टलैंड सीमेंट में C2S की मात्रा समान्यत: 15% होती है।

QUESTION: 4

पोर्टलैंड सीमेंट के निर्माण के समय उसमें जिप्सम क्यों मिलाया जाता है?

Solution:

जिप्सम मूल रूप से एक हाइड्रेटेड कैल्शियम सल्फेट (CaSo4.2H2O) है। यह सीमेंट में एक रिटार्डर के रूप में कार्य करता है और सीमेंट के सेटिंग समय को बढ़ाता है। उन जगहों पर जहां सीमेंट का सेटिंग समय अधिक करना होता है वहां पर सीमेंट में जिप्सम मिलाया जाता है।

जिप्सम के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी: जिप्सम एक खनिज है और रासायनिक रूप में हाइड्रेटेड कैल्शियम सल्फेट है। जिप्सम सीमेंट के सेट होने की दर को नियंत्रित करने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सीमेंट निर्माण प्रक्रिया के दौरान, खंगरी को ठंडा करने के लिए पिसाई के अंत में जिप्सम की थोड़ी सी मात्रा मिला दी जाती है। जिप्सम को “सीमेंट की सेटिंग" को नियंत्रित करने के लिए मिलाया जाता है। यदि जिप्सम ना मिलाया जाए, तो पानी मिलाने के बाद तुरंत ही सेट हो जायेगी और फर्श पर लगाने के लिए समय नहीं बचेगा

QUESTION: 5

1500 m3 के चिनाई कार्य के लिए कितनी सांकेतिक इंटों की आवश्यकता होगी?

Solution:

सांकेतिक ईंट का आकार = 20 cm × 10 cm × 10 cm

1 ईंट का आयतन = (0.20*0.10*0.10) m3

1500 m3 के चिनाई कार्य के लिए आवश्यक ईंटों की संख्या  

QUESTION: 6

ईंट के निम्नलिखित वर्ग में से कौन सा ग्राउंड द्वारा मोल्डेड ईंट के रूप में जाना जाता है एवं आमतौर पर उन जगहों पर उपयोग किया जाता है जहां प्लास्टर के कोट के साथ चिनाई का कार्य होता है?

Solution:

द्वितीय श्रेणी की ईंट: ये ग्राउंड द्वारा मोल्डेड ईंट है जिन्हे भट्ठीयों में पकाया जाता है। इस प्रकार की ईंटों की सतह पर हेयर क्रैक आ जाती है। इनके किनारे तेज़ एवं एकसमान हो सकते हैं। आमतौर पर उन जगहों पर इनका उपयोग किया जाता है जहां प्लास्टर के कोट के साथ चिनाई का कार्य होता है।

नोट: जबकि ईंट की प्रथम श्रेणी पहाड़ी इलाकों में बनाई जाती है और तीसरी श्रेणी की ईंटे ग्राउंड द्वारा मोल्ड की जाती है परन्तु इनका उपयोग क्षुल्लक कार्यों एवं अस्थायी संरचनाओं के लिए किया जाता है।

QUESTION: 7

लैमिन बोर्ड की मोटाई कितनी होती होती है? 

Solution:

एक लैमिन बोर्ड वह बोर्ड होता है जिसमें कोर पट्टियां होती हैं और प्रत्येक की मोटाई में 7 mm से अधिक नहीं होती है, एक स्लैब बनाने के लिए इन्हे आमने-सामने चिपकाया जाता है एवं यह दो या दो से अधिक विनियर्स के बीच में चिपकाई जाती है जो अन्य बाहरी विनियर्स के लंबवत होती है। लैमिन बोर्ड हल्के एवं मजबूत होते हैं और आसानी से अलग नहीं होते अथवा न ही टूटते हैं। इनका उपयोग दीवार बनाने, छत बनाने और स्थान विभाजक बनाने के लिए किया जाता है। इनकी मोटाई 12 से 25 mm के बीच होती है।

QUESTION: 8

रेलवे गाड़ियों के निर्माण के लिए निम्नलिखित में से किस का प्रयोग व्यापक रूप से किया जाता है?

Solution:

ब्लॉक बोर्ड: ब्लॉक बोर्ड में 25 mm तक की चौड़ाई वाले छोटे लकड़ी के ब्लॉक होते हैं। ये ब्लॉक आपस में किनारों के माध्यम से सीमेंट किए हुए होते हैं और प्रत्येक फेस को 3 mm तक की मोटाई के लिए चपकाया हुआ होता है। ब्लॉक बोर्ड का व्यापक रूप से उपयोग रेलवे गाड़ियों, बस के ढांचों , समुद्री और नदी यानों के निर्माण और फर्नीचर बनाने, स्थान विभाजकों, पैनलिंग, पूर्वनिर्मित घरों आदि के निर्माण के लिए किया जाता है।

बैटन बोर्ड: बैटन बोर्ड एक बोर्ड है जिसमें लकड़ी की पट्टियों से बना अन्तर्भाग मुख्य रूप से 80 mm चौड़ा होता है, यह सब अलग-अलग जोड़े गए होते है अथवा इन्हे जोड़कर एक स्लेट बनाई जाती है जो दो या दो से अधिक बाहरी विनियर्स के बीच में चिपकाई जाती है जो अन्य बाहरी विनियर्स के लंबवत होती है। इनका उपयोग द्वार पेनल, मेज के ऊपरी हिस्से आदि के लिए किया जाता है।

नोट: फाइबर बोर्ड का उपयोग आंतरिक परिष्करण, दीवार पैनलिंग, फर्श, फ्लश दरवाजे, टेबल टॉप के लिए किया जाता है। इनका उपयोग बड़े वाणिज्यिक भवनों और सिनेमा घरों में आग और ध्वनि रोधन के लिए किया जाता है। हार्ड बोर्ड आंतरिक साज-सज्जा प्रदान करता है और संरचना को अंतिम परिष्करण प्रदान करता है।

QUESTION: 9

चूना-सीमेंट के प्लास्टर में, 1 : 1 : 6 अनुपात किसके सदृश है:

Solution:

चूने-सीमेंट के प्लास्टर में, 1 : 1 : 6 अनुपात सीमेंट : चूना : बालू के सदृश है

QUESTION: 10

सीमेंट कंक्रीट फर्श के निर्माण के लिए, समुच्चय का अधिकतम स्वीकार्य आकार क्या है?

Solution:

विभिन्न निर्माण कार्यों में समुच्चय का अधिकतम स्वीकार्य आकार निम्नानुसार है:-

1. बांध, बनाए रखने वाली दीवारों आदि जैसे बड़े कार्यों के लिए 40 mm

2. प्रबलित भाग के लिए 20 mm

3. फर्श के लिए 10 mm

QUESTION: 11

1 : 5 अनुपात में 1 घन मीटर गीला सीमेंट मोर्टार तैयार करने के लिए सीमेंट (किलो में) और सूखी रेत (घन मीटर में) की मात्रा निम्न में से क्रमश कितनी होगी?

Solution:

1 m3 गीला सीमेंट मोर्टार 1.25 m3 सूखे मोर्टार के अनुरूप होगा

अनुपात का योग = 1 + 5 = 6

1 m3 सीमेंट = 1500 किलो

तो, 0.208 m3 सीमेंट = 312.5 किलो

QUESTION: 12

लकड़ी परिरक्षक "क्रिओसोट" निम्न में से किस श्रेणी के अंतर्गत आता है?

Solution:

क्रिओसोट टार के आसवन से प्राप्त किया जाता है। क्रिओसोट करने के लिए लकड़ी को पहले सुखाया जाता है और फ़िर क्रिओसोट तेल को उच्च दबाव(1N/mm2) और उच्च तापमान पर पंप किया जाता है। यह फफुंद और अन्य कारकों के खिलाफ सबसे अच्छा रक्षोघ्न है।

QUESTION: 13

लकड़ी में दोषों के बारे में निम्न में से कौन से जोड़े सही ढंग से मेल खाते हैं

नीचे दिए गए कोड का उपयोग कर सही उत्तर चुनें

Solution:

हार्ट शेक और स्टार शेक:  

वार्षिक वलयों में अरिय दरारें या मध्य भाग से उठने वाली दरारें जो की सैपवुड की ओर बढती जाती हैं, उसे हार्ट शेक कहा जाता है। गूदे के पास बनने वाले और अंत में तारे जैसे दिखने वाले शेक को स्टार शेक कहा जाता है। यह शेक पेड़ के मध्य भाग के जल्द सूखने के कारण होते हैं।

अपसेट्स: यह लकड़ी के तंतुओं में चोट या उनके कुचले जाने के कारण होने वाला दोष है।

फोक्सीनेसयह दोष भंडारण के दौरान अति परिपक्वता या असंवातिता के कारण पैदा हुए पीले या लाल दागों के कारण होता है।

QUESTION: 14

सीमेंट का ध्वनि परीक्षण निर्धारित करता है

Solution:

सीमेंट की सुदृढ़ता को कठोर होने के बाद इसकी मात्रा बनाए रखने की क्षमता के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। इसका मतलब यह है कि एक कठोर ध्वनि सीमेंट कठोर मात्रा में परिवर्तित होने के बाद न्यूनतम परिवर्तन से गुजरना होगा। सीमेंट के ध्वनि परीक्षण में, हम अतिरिक्त चूने की मात्रा निर्धारित करते हैं।

QUESTION: 15

श्रेणी 20 की भारतीय तप्त ईंट का अधिकतम स्वीकार्य जल अवशोषण (%) निम्न में से कितना होता है?

Solution:

IS 1077: 1992, धारा 7.2 के तहत, ईंट 24 घंटों तक ठंडे पानी में डुबोने के बाद, श्रेणी 12.5 तक, जल अवशोषण भार से 20 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए और 12.5 से उच्च श्रेणीओं के लिए जल अवशोषण भार से 12.5 और 15 प्रतिशत के बीच होना चाहिए।

ध्यान दें: प्रथम श्रेणी की ईंट का जल अवशोषण इसके शुष्क वजन के 12-15 % से अधिक नहीं होना चाहिए। द्वितीय श्रेणी की ईंट के लिए यह 16-20% से अधिक नहीं होना चाहिए।

QUESTION: 16

सूची - I (सीमेंट के गुण) के साथ सूची - II (परीक्षण उपकरण) का मिलान करें और नीचे दिए गए कूट का उपयोग कर सही उत्तर चुनें:

सूची - I                                                 सूची - II

(सीमेंट के गुण)                              (परीक्षण उपकरण)

a)  विशिष्ट गुरुत्वाकर्षण                  1 ब्लेन का उपकरण

b)  स्थापन समय                            2 ली – चेटेलियर का फ्लास्क

c)  दृढ़ता                                      3 कोम्प्रेस्सोमीटर

d)  महीनता                                  4 आटोक्लेव

                                                  5 विकट का उपकरण

Solution:

ली – चेटेलियर का फ्लास्क = विशिष्ट गुरुत्वाकर्षण के लिए

ली – चेटेलियर के उपकरण = अधजले नींबू के कारण दृढ़ता

आटोक्लेव टेस्ट = अधजले नींबू और मैग्नीशिया के कारण दृढ़ता

QUESTION: 17

अच्छे इमारती पत्थर का कठोरता सूचकांक निम्न में से कितने से कम नहीं होना चाहिए?

Solution:

अच्छे इमारती पत्थर की विशेषताएँ:

  • संपीडन सामर्थ्य > 1000 kg/cm2
  • उच्च स्थायित्व और कठोरता का गुणांक > 14
  • विशिष्ट गुरुत्वाकर्षण  > 2.7
  • कठोरता सूचकांक > 13
  • कम पानी अवशोषण
QUESTION: 18

पेंट में बेरियम सलफेटऔर कैल्शियम कार्बोनेट निम्न में से क्या होते हैं?

Solution:
  • अपमिश्रक: बेसिन सल्फेट, कैल्शियम कार्बोनेट, मैग्नीशियम सिलिकेट आदि
  • थिनर: पेट्रोलियम, स्पिरिट, नैप्था, तारपीन तेल
  • शुष्कक: लेथार्ज, लाल सीसा, कोबाल्ट, जस्ता  
  • बेस: सफेद सीसा, लाल सीसा, एल्यूमीनियम पाउडर
QUESTION: 19

लॉस एंजिल्स परीक्षण निम्न में से किस को निर्धारित करने के लिए बनाया गया है?

Solution:

लॉस एंजिल्स घर्षण परीक्षण घर्षण प्रतिरोध को जानने के लिए उपयोग होता है।

लॉस एंजिल्स मशीन: इसमें स्टील का एक खोखला सिलेंडर होता है, जो दोनों सिरों से बंद होता है, इसका आंतरिक व्यास 700 mm और लम्बाई 500 mm होती है और क्षैतिज धुरी के गिर्द घूमने में सक्षम होता है।

घर्षण चार्ज:ढलवां लोहा यां स्टील की गेंदें, जिनका व्यास लगभग 48 mm और प्रत्येक का वजन3 90 से 445g के बीच होता है; छह से बारह गेंदों की आवश्यकता होती है।

QUESTION: 20

डिस्टेंपर के लिए आधार सामग्री निम्न में से क्या होती है?

Solution:

सतह, जिस पर डिस्टेंपर करना है, को पहले रेगमाल से साफ़ करके जितना संभव हो समतल बनाया जाता है। प्लास्टर को कम से कम 60 दिनों तक दीवार पर सुखाने के बाद ही डिस्टेंपर किया जाना चाहिए। प्लास्टर की हुई सतह पर चूने की पहली परत चढाई जाती है और उसके बाद डिस्टेंपर की दो परतें चढ़ाई जाती हैं।

यह पानी के पेंट हैं जो सफ़ेद चाक के आधार और पानी के थिनर से बने बने होते हैं और सूखे डिस्टेंपर और तेल बद्ध डिस्टेंपर के रूप में उपलब्ध हैं।

Use Code STAYHOME200 and get INR 200 additional OFF
Use Coupon Code

Download free EduRev App

Track your progress, build streaks, highlight & save important lessons and more!

Related tests