महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

गणित कक्षा 10

Class 10 : महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

The document महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev is a part of the Class 10 Course गणित कक्षा 10.
All you need of Class 10 at this link: Class 10

वास्तविक संख्याएँ

प्रश्नावली 1.1

प्र०1. युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से HCF ज्ञात कीजिये |

(i) 135 और 225 (ii) 196 और 38220 (iii) 867 और 255

हल:

(1) 135 और 225

a = 225, b = 135 {सबसे बड़ी संख्या को a तथा सबसे छोटी संख्या को b मानते है }

युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से

a = bप्र० + r (तब)

225 = 135 ×1 + 90

135 = 90 ×1 + 45

90 = 45 × 2 + 0 {जब हमें r=0 प्राप्त हो जाता है तो हम आगे हल करना बंद कर देते है }

b = 45 {फिर उसमे से b का मान HCF होता है;}

HCF = 45

हल:

(ii) 196 और 38220

a = 38220, b = 196 {सबसे बड़ी संख्या को a तथा सबसे छोटी संख्या को b मानते है }

युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से

a = bप्र० + r (तब)

38220= 196 ×195 + 0 {जब हमें r=0 प्राप्त हो जाता है तो हम आगे हल करना बंद कर देते है }

b = 196 {फिर उसमे से b का मान HCF होता है;}

HCF = 196

हल:

(iii) 867 और 255

a = 867, b = 255 {सबसे बड़ी संख्या को a तथा सबसे छोटी संख्या को b मानते है }

युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से

a = bप्र० + r (तब)

38220= 196 ×195 + 0 {जब हमें r=0 प्राप्त हो जाता है तो हम आगे हल करना बंद कर देते है }

b = 196 {फिर उसमे से b का मान HCF होता है;}

HCF = 196


प्र०2. दर्शाइए कि कोई भी धनात्मक विषम पूर्णांक 6प्र० + 1, या 6प्र० + 3, या 6प्र० + 5, के रूप का होता है जहाँ प्र० कोई पूर्णांक है |
हल:

दर्शाना है: a = 6प्र० + 1, 6प्र०+3 या 6प्र०+5

माना कि a कोई धनात्मक विषम पूर्णांक है; जहाँ b = 6 होगा,

जब हम 6 से a को विभाजित करते है जो शेषफल क्रमश: 0, 1, 2, 3, 4 और 5 पाते है;

जहाँ 0 ≤ r < />

यहाँ a एक विषम संख्या है इसलिए शेषफल भी विषम संख्या प्राप्त होता है |

शेषफल होगा 1 या 3 या 5

युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से हम पाते है;

a = 6प्र० + 1, 6प्र०+3 या 6प्र०+5

प्र०3. किसी परेड में 616 सदस्यों वाली एक सेना (आर्मी) की टुकड़ी को 32 सदस्यों वाले एक आर्मी बैंड के पीछे मार्च करना है | दोनों समूहों को समान संख्या वाले स्तंभों में मार्च करना है | उन स्तंभों की अधिकतम संख्या क्या है, जिसमें वे मार्च कर सकते है ?
हल:

स्तंभों की अधिकतम संख्या = HCF (616, 32)

a = 616, b = 32 {सबसे बड़ी संख्या को a तथा सबसे छोटी संख्या को b मानते है }

युक्लिड विभाजन अल्गोरिथम के प्रयोग से

a = bप्र० + r (तब)

616 = 32 ×19 + 8 {जब हमें r=0 प्राप्त हो जाता है तो हम आगे हल करना बंद कर देते है }

32 = 8 × 4 + 0

b = 8 {b का मान HCF होता है}

HCF = 8

इसलिए स्तंभों की अधिकतम संख्या = 8

प्र०4. यूक्लिड विभाजन प्रमेयिका का प्रयोग करके दर्शाइए कि किसी धनात्मक पूर्णांक का वर्ग, किसी पूर्णांक m के लिए 3m या 3m + 1 के रूप का होता है |
हल :

दर्शाना है : a2 = 3m or 3m + 1

a = bप्र० + r

माना कि a कोई धनात्मक पूर्णांक है जहाँ b = 3 और r = 0, 1, 2 क्योंकि 0 ≤ r < />

तब a = 3प्र० + r कुछ पूर्णांक के लिए प्र० ≥ 0

इसलिए, a = 3प्र० + 0 or 3प्र० + 1 or 3प्र० + 2

अब हम पाते है;

⇒ a2 = (3प्र० + 0)2 or (3प्र० + 1)2 or (3प्र० +2)2

⇒ a2 = 9प्र०2 or 9प्र०2 + 6प्र० + 1 or 9प्र०2 + 12प्र० + 4

⇒ a2 = 9प्र०2 or 9प्र०2 + 6प्र० + 1 or 9प्र०2 + 12प्र० + 3 + 1

⇒ a2 = 3(3प्र०2) or 3(3प्र०2 + 2प्र०) + 1 or 3(3प्र०2 + 4प्र० + 1) + 1

यदि m = (3प्र०2) or (3प्र०2 + 2प्र०) or (3प्र०2 + 4प्र० + 1) हो तो

हम पाते है कि ;

a2 = 3m or 3m + 1 or 3m + 1

प्र०5. यूक्लिड विभाजन प्रमेयिका का प्रयोग करके दर्शाइए कि किसी धनात्मक पूर्णांक का घन 9m, 9m + 1 या 9m + 8 के रूप का होता है |
हल:

माना, a कोई धनात्मक पूर्णांक है;

युकिल्ड विभाजन प्रमेयिका के प्रयोग से;

a = bप्र० + r जहाँ; 0 ≤ r < />

b = 9 रखने पर

a = 9प्र० + r जहाँ; 0 ≤ r < />

जब r = 0 हो;

a = 9प्र० + 0 = 9प्र०

a3 = (9प्र०)3 = 9(81प्र०3) या 9m जहाँ m = 81प्र०3

जब r = 1 हो

a = 9प्र० + 1

a3 = (9प्र० + 1)3 = 9(81प्र०3 + 27प्र०2 + 3प्र०) + 1

= 9m + 1 जहाँ m = 81प्र०3 + 27प्र०2 + 3प्र०

जब r = 2 हो तो

a = 9प्र० + 2

a3 = (9प्र० + 2)3 = 9(81प्र०3 + 54प्र०2 + 12प्र०) + 8

= 9m + 2 जहाँ m = 81प्र०3 + 54प्र०2 + 12प्र०

अत: किसी धनात्मक पूर्णांक का घन 9m, 9m + 1 या 9m + 8 के रूप का होता है |

प्रश्नावली 1.2

प्र०1. निम्नलिखित संख्याओं को अभाज्य गुणनखंड के रूप में व्यक्त कीजिये :
(i) 140

हल:

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

140 का अभाज्य गुणनखंड

= 22 × 5 × 7

(ii) 156

हल:

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

156 का अभाज्य गुणनखंड

= 22 × 3 × 13

(iii) 3825

हल:

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

3825 का अभाज्य गुणनखंड

= 32 × 52 × 17

(iv) 5005

हल:

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

5005 का अभाज्य गुणनखंड

= 5 × 7 × 11 × 13

(v) 7429

हल:

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

7429 का अभाज्य गुणनखंड = 17 x 19 x 23

प्र०2. पूर्णांकों के निम्नलिखित युग्मों के LCM and HCF ज्ञात कीजिए तथा इसकी जाँच कीजिए कि दो संख्याओं का गुणनफल = LCM × HCF है|
(i) 26 and 91
हल:

26 = 2 × 13

91 = 7 × 13

सार्व गुणनखंड = 13

∴ HCF = 13

LCM = 2 × 7 × 13 = 182

अब, जाँच,

दो संख्याओं का गुणनफल = LCM × HCF

N1 × N2 = LCM × HCF

26 × 91 = 13 × 182

2366 = 2366

इति सिद्धम |

(ii) 510 and 92
हल:

510 = 2 × 3 × 5 × 17

92 = 2 × 2 × 23

सार्व गुणनखंड = 2

∴ HCF = 2

LCM = 2 × 2 × 3 × 5 × 17 × 23 = 23460

अब, जाँच,

दो संख्याओं का गुणनखंड = LCM × HCF

N1 × N2 = LCM × HCF

510 × 92 = 2 × 23460

46920 = 46920

इति सिद्धम |

(iii) 336 and 54
हल:

336 = 2 × 2 × 2 × 2 × 3 × 7

54 = 2 × 3 × 3 × 3

सार्व गुणनखंड = 2 × 3

∴ HCF = 6

LCM = 2 × 2 × 2× 2 × 3 × 3 × 3 × 7 = 3024

जाँच,

दो संख्याओं का गुणनफल = LCM × HCF

N1 × N2 = LCM × HCF

336 × 54 = 6 × 3024

18144 = 18144

इति सिद्धम |

प्र०3. अभाज्य गुणनखंड विधि द्वारा निम्नलिखित पूर्णांकों के LCM और HCF ज्ञात कीजिए |
(i) 12, 15 and 21
हल:

12 = 2 × 2 × 3

15 = 5 × 3

21 = 7 × 3

सार्व गुणनखंड = 3

HCF = 3

​LCM = 3 × 2 × 2 × 5 × 7 = 420

(ii) 17, 23 and 29
हल:

17 = 1 × 17

23 = 1 × 23

29 = 1 × 29

HCF = 1

LCM = 17 × 23 × 29 = 11339

(iii) 8, 9 and 25
हल:

8 = 2 × 2 × 2

9 = 3 × 3

25 = 5 × 5

यहाँ 1 को छोड़कर अन्य कोई सार्व गुणनखंड नहीं है |

∴ HCF = 1

LCM = 2 × 2 × 2 × 3 × 3 × 5 × 5

= 8 × 9 × 25

= 1800

प्र०4. HCF (306, 657) = 9, दिया है | LCM (306, 657) ज्ञात कीजिए |
हल:

HCF (306, 657) = 9

LCM × HCF = ​N1 × N2

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

LCM = 22338

प्र०5. जाँच कीजिए कि क्या किसी प्राकृत संख्या n के लिए संख्या 6n अंक 0 पर समाप्त हो सकती है |
हल:

6n का अभाज्य गुणनखंड = (2 × 3 )n

जबकि, कोई प्राकृत संख्या जो शून्य पर समाप्त होती है उसके अभाज्य गुणनखंड (2 × 5 )n के रूप का होता है |

अत:, 6n शून्य पर समाप्त नहीं होगी |

प्र०6. व्याख्या कीजिए 7 × 11 × 13 + 13 और 7 × 6 × 5 × 4 × 3 × 2 × 1 + 5 भाज्य संख्या क्यों है ?
हल :

माना A = 7 × 11 × 13 + 13

= 13 (7 × 11 + 1)

= 13 (77 + 1)

= 13 × 78

अत: यह एक भाज्य संख्या है क्योंकि इसके अभाज्य गुणनखंड में 1 को छोड़कर अन्य दो गुणनखंड हैं |

इसीप्रकार,

माना B = 7 × 6 × 5 × 4 × 3 × 2 × 1 + 5

= 5 (7 × 6 × 4 × 3 × 2 × 1 + 1)​

= 5 × (1008 + 1)

= 5 × 1009

अत: यह भी एक भाज्य संख्या है क्योंकि इसके भी अभाज्य गुणनखंड में 1 को छोड़कर अन्य दो गुणनखंड हैं |

प्र०7. किसी खेल के मैदान के चारों ओर एक वृत्ताकार पथ है। इस मैदान का एक चक्कर लगाने में सोनिया को 18 मिनट लगते हैं, जबकि इसी मैदान का एक चक्कर लगाने में रवि को 12 मिनट लगते हैं। मान लीजिए वे दोनों एक ही स्थान और एक ही समय पर चलना प्रारंभ करके एक ही दिशा में चलते हैं। कितने समय बाद वे पुनः प्रांरभिक स्थान पर मिलेंगे?
हल:

एक चक्कर में सोनिया 18 मिनट लेती हैं |

रवि एक चक्कर में 12 लगाता है |

वे दोनों एक ही स्थान पर LCM(18, 12) मिनट के बाद मिलेंगे |

अत:

18 = 2 × 3 × 3

12 = 2 × 2 × 3

HCF = 2 × 3 = 6

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

= 36 मिनट |

प्रश्नावली 1.3

प्र०1. सिद्ध कीजिए कि √5 एक अपरिमेय संख्या है |
हल :

इसके विपरीत मान लीजिए कि √5 एक परिमेय संख्या है |

हम किसी भी परिमेय संख्या को p/प्र० के रूप में व्यक्त कर सकते है जहाँ p तथा प्र० दो पूर्णांक है और प्र० ≠ 0 है |

इसलिए,

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

यहाँ 5 a2 को विभाजित करता है अत: 5 a को भी विभाजित करेगा | ....(1)

[ प्रमेय 1.3 द्वारा ]

अत: a = 5c माना [ क्योंकि a 5 द्वारा विभाजित होता है अर्थात a का 5 कोई गुनाखंड है |]

5b2 = a2 में a = 5c रखने पर

⇒ 5b2 = (5c)2

⇒ 5b2 = 25c2

⇒ b2 = 5c2

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

यहाँ 5 b2 को विभाजित करता है अत: 5 b को भी विभाजित करेगा | ....(2)

[ प्रमेय 1.3 द्वारा ]

समीकरण (1) तथा (2) से हम पाते है कि 5 a तथा b दोनों को विभाजित करता है जिसमें 5 एक उभयनिष्ठ गुणनखंड है |

इससे हमारी इस तथ्य का विरोधाभास प्राप्त होता है कि a तथा b में 1 के अतिरिक्त कोई उभयनिष्ठ गुणनखंड नहीं है |

यह विरोधाभासी परिणाम हमारी गलत कल्पना से प्राप्त हुआ है कि

अत: √5 एक अपरिमेय संख्या है |

प्र०2. सिद्ध कीजिए कि 3 + 2√5 एक अपरिमेय संख्या है |
हल :

इसके विपरीत मान लीजिए कि 3 + 2√5 एक परिमेय संख्या है |

हम किसी भी परिमेय संख्या को p/प्र० के रूप में व्यक्त कर सकते है जहाँ p तथा प्र० दो पूर्णांक है और प्र० ≠ 0 है |

इसलिए,

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

और p तथा प्र० को उभयनिष्ठ गुणनखंड से विभाजित कर एक सह-अभाज्य संख्या a तथा b प्राप्त कर सकते हैं |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

चूँकि a तथा b पूर्णांक है और 2 तथा 3 भी पूर्णांक है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

इससे एक विरोधाभासी परिणाम प्राप्त होता है कि √5 परिमेय संख्या है |

ऐसा विरोधाभासी परिणाम हमारी गलत कल्पना से प्राप्त हुआ है कि 3 + 2√5 एक परिमेय संख्या है |

अत: 3 + 2√5 एक अपरिमेय संख्या है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

यहाँ 2 b2 को विभाजित करता है अत: 2, b को भी विभाजित करेगा | ....(1)

[ प्रमेय 1.3 द्वारा ]

अत: b = 2c माना [ क्योंकि a 5 द्वारा विभाजित होता है | ]

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

यहाँ 2 a2 को विभाजित करता है अत: 2 a को भी विभाजित करेगा | ....(2)

[ प्रमेय 1.3 द्वारा ]

समीकरण (1) तथा (2) से हम पाते है कि 2 a तथा b दोनों को विभाजित करता है जिसमें 2 एक उभयनिष्ठ गुणनखंड है |

इससे हमारी इस तथ्य का विरोधाभास प्राप्त होता है कि a तथा b में 1 के अतिरिक्त कोई उभयनिष्ठ गुणनखंड नहीं है, क्योंकि हमने a तथा b को सह-अभाज्य प्राप्त किया था |

यह विरोधाभासी परिणाम हमारी गलत कल्पना से प्राप्त हुआ है कि

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

प्रश्नावली 1.4
प्र०1. बिना लंबी विभाजन प्रक्रिया किए बताइए कि निम्नलिखित परिमेय संख्याओं के दशमलव प्रसार सांत हैं या असांत आवर्ती हैं :

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

हल :

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

हर का अभाज्य गुणनखंड 55 है और इसे 2m × 5n के रूप में व्यक्त किया जा सकता है अत: यह एक सांत दशमलव प्रसार है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

हर का अभाज्य गुणनखंड 23 है और इसे 2m × 5n के रूप में व्यक्त किया जा सकता है अत: यह एक सांत दशमलव प्रसार है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

हर का अभाज्य गुणनखंड 5 × 7 × 13 है और इसे 2m × 5n के रूप में व्यक्त नहीं किया जा सकता है अत: यह एक असांत दशमलव प्रसार है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

हर का अभाज्य गुणनखंड 26 × 52 है और यह 2m × 5n के रूप में व्यक्त है अत: यह एक सांत दशमलव प्रसार है |

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev
प्र०2. ऊपर दिए गए प्रश्न में उन परिमेय संख्याओं के दशमलव प्रसारों को लिखिए जो सांत हैं |

हल : प्रश्न संख्या 1 में सांत दशमलव प्रसार वाले प्रश्न निम्नलिखित हैं |

(i), (ii), (iii), (iv), (vi), (viii) और (ix)

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर, पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी),गणित Class 10 Notes | EduRev

Offer running on EduRev: Apply code STAYHOME200 to get INR 200 off on our premium plan EduRev Infinity!

Complete Syllabus of Class 10

Dynamic Test

Content Category

Related Searches

mock tests for examination

,

Extra Questions

,

Objective type Questions

,

पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी)

,

shortcuts and tricks

,

ppt

,

video lectures

,

Viva Questions

,

Important questions

,

गणित Class 10 Notes | EduRev

,

Exam

,

गणित Class 10 Notes | EduRev

,

Summary

,

past year papers

,

study material

,

pdf

,

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर

,

Free

,

Previous Year Questions with Solutions

,

पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी)

,

गणित Class 10 Notes | EduRev

,

MCQs

,

पाठ - 1 वास्तविक संख्याएँ (कक्षा दसंवी)

,

practice quizzes

,

Sample Paper

,

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर

,

Semester Notes

,

महत्वपूर्ण-प्रश्नोत्तर

;