Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev

Hindi Class 9

Created by: Trisha Vashisht

Class 9 : Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev

The document Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev is a part of the Class 9 Course Hindi Class 9.
All you need of Class 9 at this link: Class 9

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1. लेखक मनुष्य के किस क्रियाकलाप को उसकी भूल बताता है ? सांवले सपनों की याद पाठ के आधार पर लिखिए।

[C.B.S.E. 2015 Term I, 42U MBWI]

उत्तरः मनुष्य प्रकृति और उसके अन्य अंगों यथा-पक्षियों को भी प्रकृति की नजर से नहीं देखते अपितु मनुष्य की नजर से देखते हैं। ऐसे में मनुष्य पक्षियों के मधुर संगीत का अनुभव नहीं कर पाता। यही उसकी भूल है।

[C.B.S.E. Marking Scheme, 2015], 

प्रश्न 2. बर्ड वाचर से क्या अभिप्राय है ? ‘साँवले सपनों की याद’ पाठ के आधार पर स्पष्ट कीजिए।

[C.B.S.E. 2014 Term I, OWO2BPW]

उत्तरः बर्ड वाचर शब्द से अभिप्राय है-पक्षी जगत का अध्ययन करने वाला व्यक्ति। सालिम अली भारत के बर्ड वाचर के रूप में प्रसिद्ध रहे हैं। 

प्रश्न 3. ”साँवले सपनों की याद“ शीर्षक की सार्थकता पर टिप्पणी करते हुए सालिम अली के व्यक्तित्व की विशेषताएँ लिखिए।

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 64 A1]

उत्तरः डायरी शैली में लिखे इस संस्मरण में सालिम अली की मृत्यु से उत्पन्ना दुःख और अवसाद को लेखक ने "साँवले सपनों की याद" के रूप में व्यक्त किया है। उनकी दुखद स्मृति अब धुंधले सपने के समान है। सालिम अली प्रकृति तथा पक्षी-विज्ञानी थे। वे सरल हृदय एवं करुणा के पुजारी थे। उनके हृदय में पक्षियों के प्रति अथाह स्नेह था। 

प्रश्न 4. ‘पंखों पर सवार साँवले सपनों का हुजूम’ किसे और क्यों कहा गया है? ‘साँवले सपनों की याद’ पाठ के आधार पर समझाकर बताइए। [C.B.S.E. 2014 Term I, Set M] 
उत्तरः ‘पंखों पर सवार साँवले सपनों का हुजूम’ पक्षी विज्ञानी सालिम अली के जनाजे को कहा गया है। उनका मृत शरीर मौत की खामोश वादी की ओर अग्रसर है। वे प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी थे और अब इस दुनिया से विदा ले रहे थे। अतः पक्षियों से सम्बन्धित सपने अब वे नहीं देख सकेंगे।

प्रश्न 5. प्रकृति व पक्षी प्रेमी, भ्रमणशील स्वभाव, पर्यावरण की सुरक्षा हेतु सदा सजग। किन्हीं दो का उल्लेख करते हुए सालिम अली की विशेषताएँ बताइए। 

[C.B.S.E. 2016 Term I, 068 PDDH]

उत्तरः सालिम अली प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी थे। वे भ्रमणशील स्वभाव के ‘बर्ड वाचर’ थे। वे सदा प्रकृति की हँसती-खेलती रहस्यमयी दुनिया के समान अपने आस-पास देखते थे।

उन्होंने केरल की साइलेंट वैली को रेगिस्तानी हवा के झोंकों के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री चैधरी चरण सिंह से अनुरोध किया था। पर्यावरण के सम्भावित खतरों का जो चित्र सालिम अली ने उनके सामने रखा उससे प्रधानमंत्री की आँखें नम हो गयीं। 

प्रश्न 6. जो लोग सालिम अली के भ्रमणशील स्वभाव से परिचित हैं वे उनकी मृत्यु के बाद उनके बारे में क्या विचार रखते हैं ? संक्षेप में उल्लेख कीजिए।

[C.B.S.E. 2016 Term I X2437 E7]

उत्तरः उन्हें लगता है कि वे गले में लम्बी दूरबीन लटकाए कभी भी लौट आएँगे।

[C.B.S.E. Marking Scheme, 2016]

व्याख्यात्मक हल-

सालिम अली के भ्रमणशील स्वभाव से परिचित लोगों को सामान्यतः उनकी मौत का यकीन नहीं होता। उन्हें लगता है कि वे कभी भी गले में लम्बी दूरबीन लटकाए उनके सामने आ खड़े होंगे।

प्रश्न 7. लाॅरेंस कौन थे ? उनमें और सालिम अली में क्या समानता थी? ”साँवले सपनों की याद“ पाठ के आधार पर लिखिए।

[C.B.S.E. 2014, 13 Term I, Set R, 028 A1]

उत्तरः लॅारेंस 20वीं शती के प्रसिद्ध अंग्रेजी उपन्यासकार और प्रकृति प्रेमी थे। लाॅरेंस और सालिम अली दोनों ही पक्षी एवं प्रकृति प्रेमी और पक्षी विज्ञानी थे। 

प्रश्न 8. लेखक ने ऐसा क्यों कहा है कि सालिम अली जैसा ‘बर्ड वाचर’ शायद ही कोई दूसरा हुआ हो?

[C.B.S.E. 2013 Term I, Set 8ATH36H]

उत्तरः सालिम अली पक्षी प्रेमी थे, बचपन में उनकी एअरगन से एक नीले कंठ वाली गौरेया घायल हो गई थी। इस घटना के बाद से ही वे पक्षियों की देखभाल, सुरक्षा और खोजबीन में जुट गए और उनकी रुचि पूरे पक्षी-संसार की ओर मुड़ गई। उनके पूर्ण समर्पण के कारण ही इस क्षेत्र में उनका कोई सानी नहीं था। 

प्रश्न 9. ”साँवले सपनों की याद“ पाठ के नायक-सालिम अली प्रकृति की दुनिया में टापू बनने के बजाय अथाह सागर बनकर कैसे उभरे थे?

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 55 A1]

उत्तरः सालिम अली किसी विशेष सीमा में सीमित न रहकर पक्षियों की नित नई खोजों के द्वारा जानकारियाँ एकत्र करते रहे जो अथाह थीं। वे अद्भुत पक्षी-विज्ञानी थे। इस प्रकार वे टापू बनने की बजाय अथाह सागर बनकर उभरे। 2

प्रश्न 10. किस घटना ने सालिम अली के जीवन की दिशा को बदल कर उन्हें ‘पक्षी-प्रेमी’ बना दिया? "साँवले-सपनों की याद" पाठ के आधार पर लिखिए।

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 55 A1] 

उत्तरः बचपन में उनकी एयरगन से एक नीले-कंठ वाली गौरेया घायल हो गई थी जिसे देखकर उनका हृदय द्रवित हो उठा था और उन्हें पक्षी-प्रेमी (पक्षी-विज्ञानी) बना दिया। 

प्रश्न 11. "साँवले सपनों की याद" पाठ में सालिम अली प्रकृति और पर्यावरण के प्रति चिंतित थे ? पर्यावरण को बचाने के लिए उनके द्वारा किए गए प्रयासों का उल्लेख कीजिए, साथ ही आप क्या कर सकते हैं, यह भी बताइए?

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 23 A1]

उत्तरः सालिम अली बड़े उदार, पक्षी-प्रेमी और प्रकृति-विज्ञानी थे। केरल की ‘साइलेंट वेली’ को बचाने हेतु तत्कालीन प्रधानमंत्री चै. चरणसिंह से बात की, लेइ-लद्दाख के पक्षियों के संरक्षण के लिये कार्य किये। 

पर्यावरण को बचाने के लिए हम निम्नलिखित योगदान दे सकते हैं-
1. हमें पेड़ों की कटाई रोकनी चाहिए।
2. पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए और अधिक पेड़-पौधे लगाने होंगे।
3. प्लास्टिक का प्रयोग कम करना होगा।
4. जल में प्रदूषण न हो, इसका ध्यान रखना होगा।
5. कूड़े को कूड़ेदान में ही डालना होगा। न कि इधर-उधर कहीं भी।

प्रश्न 12. सालिम अली ने पूर्व प्रधानमंत्री जी के सामने पर्यावरण से सम्बन्धित किन संभावित खतरों का चित्र खींचा होगा कि जिससे उनकी आँखें नम हो गई थीं। पठित पाठ ‘साँवले सपनों की याद’ के आधार पर लिखिए।

[C.B.S.E. 2013, 12 Term I, Set AGRO-92, 29 A1]

उत्तरः सालिम अली ने पूर्व प्रधानमंत्री चरण सिंह को बताया कि रेगिस्तानी गर्म हवाओं के झोंकों से ‘साइलेंट वेली’ के झुलसने का खतरा है। हरियाली समाप्त हो जाएगी। जीव-जन्तुओं के जीवन पर संकट आ जाएगा। यह जानकर चैधरी साहब द्रवित हो उठे थे।

प्रश्न 13. ”साँवले सपनों की याद“ पाठ के अनुसार सालिम अली की विशेषताएँ बताकर उनके जीवन की उस घटना का उल्लेख कीजिए जिसने उन्हें पक्षी-प्रेमी बना दिया?

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 25 A1]

अथवा
"साँवले सपनों की याद" पाठ के नायक का नाम बताकर उनके गुणों का उल्लेख उस घटना के आधार पर कीजिए जिसने उन्हें पक्षी-विज्ञानी बना दिया।

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 44 A1]

उत्तरः सालिम अली पक्षी-विज्ञानी, सहृदय नेक दिल तथा सच्चे इंसान थे। वे महान् कारुणिक बने, क्योंकि बचपन में उनकी एयरगन से एक गौरेया घायल होकर गिर पड़ी थी। इस घटना के बाद वे पक्षियों की देखभाल, सुरक्षा और खोजबीन में जुट गए और उनकी रुचि पूरे पक्षी-संसार की ओर मुड़ गई।

प्रश्न 14. लाॅरेंस की पत्नी फ्रीडा ने ऐसा क्यों कहा होगा कि "मेरी छत पर बैठने वाली गौरेया लाॅरेंस के बारे में ढेर सारी बातें जानती है?" "साँवले सपनों की याद“ के आधार पर लिखिए।

[C.B.S.E. 2012 Term I, Set 49 A1]

उत्तरः लाॅरेंस प्रकृति-प्रेमी थे। उनका पूरा जीवन एक खुली किताब के समान था। उनके जीवन से सम्बन्धित कोई बात छिपी हुई नहीं है।  छत पर बैठने वाली गौरेया के साथ भी वे काफी समय बिताते थे। गौरेया का व्यवहार भी मित्रवत् था। तभी उनकी पत्नी ने यह बात कही।

प्रश्न 15. सालिम अली के अनुसार लोगों का प्रकृति के प्रति क्या नजरिया है, हमें प्रकृति को किस नजरिए से देखना चाहिए ?

[C.B.S.E. 2014, 13 Term I, Set R, 9L75DKV]

उत्तरः लोगों का प्रकृति के प्रति उदासीन रवैया देखकर वे द्रवित हो गए। वे प्रकृति तथा पक्षी विज्ञानी थे तथा सरल एवं सहृदय व्यक्ति थे। प्रकृति व हरियाली की रक्षा प्राणीमात्र के लिए आवश्यक है, अतः हमें अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए प्रकृति का पूर्ण सकारात्मक ध्यान रखने का प्रयास करना ही होगा।

प्रश्न 16. सालिम अली पक्षियों को मनुष्य के समरूप नहीं देखने की सलाह क्यों देते थे ? स्पष्ट कीजिए।

[C.B.S.E. 2015 Term I, 91K2 ZBZ]

उत्तरः सालिम अली पक्षी प्रेमी थे, पक्षियों से उनका भावनात्मक प्रेम था। पक्षियों में उनकी विशेष रूचि थी तथा उनके प्रति वे विशेष संवेदनशील थे। वाणी रहित पक्षियों को वे मनुष्य के समरूप नहीं देखने की सलाह देते थे क्योंकि पक्षियों को मनुष्य के समरूप देखने से, उनके प्रति करूणा और प्रेम जागृत नहीं हो पाएगा।

Complete Syllabus of Class 9

Dynamic Test

Content Category

Related Searches

Objective type Questions

,

past year papers

,

Sample Paper

,

Semester Notes

,

Summary

,

study material

,

video lectures

,

Extra Questions

,

Free

,

Important questions

,

Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev

,

pdf

,

Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev

,

Exam

,

shortcuts and tricks

,

Previous Year Questions with Solutions

,

Viva Questions

,

ppt

,

MCQs

,

mock tests for examination

,

practice quizzes

,

Short Question Answers - साँवले सपनों की याद Class 9 Notes | EduRev

;