उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev

भूगोल (Geography) for UPSC Prelims in Hindi

Created by: Mn M Wonder Series

UPSC : उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev

The document उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev is a part of the UPSC Course भूगोल (Geography) for UPSC Prelims in Hindi.
All you need of UPSC at this link: UPSC

उत्तरी अमेरिका महाद्वीप

स्थिति तथा विस्तार 
•  क्षेत्रफल की दृष्टि से यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है, जिसका क्षेत्रफल यूरोप महाद्वीप से दो गुना है। 
•  इसकी उत्तर-दक्षिण लंबाई 7,800 वर्ग किलोमीटर है। तथा पूर्व-पश्चिम चौड़ाई लगभग 6,400 किलोमीटर है। 
•  इस महाद्वीप की समुद्र तल से औसत ऊंचाई 600 मीटर है।

अटलांटिक तटीय प्रदेश 
•  यह प्रदेश उत्तर में आर्कटिक सागर से प्रारंभ होकर दक्षिण में फ्रलोरिड तक अटलांटिक महासागर के किनारे फैला हुआ है। 
•  इसका लंबा तथा संकरा तटीय मैदान न्यूयार्क के दक्षिण में फ्रलोरिडा तक अपेक्षाकृत अधिक चौड़ा है पर उत्तर की ओर संकीर्ण होता गया है।

पूर्वी पर्वतीय प्रदेश 
•  अटलांटिक के तटीय मैदान तथा मध्यवर्ती बृहत मैदान के मध्य में उत्तरी अमेरिका का प्राचीन भू-भाग स्थित है। 
•  इसे सेंट लारेंस नदी की घाटी दो भागों में विभाजित करती है- उत्तरी तथा दक्षिणी। 
•  इस घाटी से लेकर उत्तर तथा उत्तर-पूर्व में हड्सन की खाड़ी तथा उत्तर सागर तक फैला हुआ अत्यंत विषम संरचना का क्षेत्र है, जिसे लारेंशिया का पठार कहते हैं। 
•  यह भाग उत्तरी अमेरिका का प्राचीनतम भू-भाग है। जिसके दक्षिण तथा पश्चिम में कालांतर में कई स्थलखंड परस्पर जुड़ गए। 

मध्यस्थित बृहत मैदान
•  पूर्वी एवं पश्चिमी पर्वतीय भागों के मध्य, उत्तर में उत्तरी महासागर तथा दक्षिण में मेक्सिको की खाड़ी के तट तक 32,37,500 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ यह समतल मैदान है, जिसमें अनेक नदियां की चौड़ी घाटियां स्थित हैं।

पश्चिमी पर्वतीय क्षेत्र 
•  मध्यवर्ती मैदान के पश्चिमी राॅकी पर्वतों से लेकर पश्चिम में प्रशांत महासागरीय तट तक उत्तर से दक्षिण अनेक पर्वतप्रणालियों तथा पठारों का अत्यंत विषम क्षेत्र है। जिसे उत्तरी अमेरिका का कार्डिलेरा भू-भाग कहते हैं। 

नदियाँ एवं झीलें
•  सेंट लाॅरेंस नदी: (कनाडा-संयुक्त राज्य अमेरिका) महान झील क्षेत्र से निकलकर यह नदी उत्तरी अमेरिका का सबसे अधिक व्यस्त अंतः स्थलीय जल मार्ग है।
•  हडसन नदी (संयुक्त राज्य अमेरिका): अप्लेशिया पर्वत से निकलती है तथा पश्चिम की ओर बहती है।
•  मेकेन्जी नदी (कनाडा): यह नदी उत्तर की ओर बहती हुई उत्तरी ध्रुव सागर में गिरती है।
•  मिसिसीपी नदी (संयुक्त राज्य अमेरिका): पश्चिमी कार्डिलेरा से निकलकर दक्षिण की ओर बहकर अटलांटिक महासागर स्थित मेक्सिको की खाड़ी में गिरती है। इसका डेल्टा चिड़िया के पंजे जैसा है।
•  कोलोरेडो नदी (संयुक्त राज्य अमेरिका): राॅकी पर्वत से निकलती है। कोलोरेडो पठार से होकर बहती है तथा कैलीफोर्निया की खाड़ी में गिरती है।
•  प्रफेजर नदी (कनाडा): पश्चिम में बहकर प्रशांत महासागर में गिरती है।
•  यूकन नदी (कनाडा): सियरा नेवादा पर्वत श्रेणी से निकलकर अलास्का से होते हुए उत्तरी ध्रुव सागर में गिरती है।
•  झीलें: यहां की प्रमुख झीलें गे्रट बिअर (कनाडा), विनीपेग (कनाडा), ग्रेट स्लोव (कनाडा), ग्रेट साल्ट लेक (संयुक्त राज्य अमेरिका), ईरी झील (कनाडा-संयुक्त राज्य अमेरिका), ओण्टेरियो झील (कनाडा-संयुक्त राज्य अमेरिका), मिशिगन तथा सुपीरियन आदि हैं।

 

उत्तरी अमेरिका महाद्वीप: महत्वपूर्ण तथ्य

♦ विश्व के कुल स्थलीय क्षेत्र का 16 प्रतिशत और विश्व का कुल जनसंख्या का 9 प्रतिशत भाग इस महाद्वीप में निवास करता है।

♦ इसके उत्तर-पूर्व में विश्व का सबसे बड़ा द्वीप ग्रीनलैण्ड है जो डेनमार्क के अधीन है। इसका क्षेत्रफल 8 लाख 40 हजार वर्ग किलामीटर है।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप की खोज 1492ई॰ में कोलम्बस द्वारा की गई थी।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप का नाम अमेरिगो विस्पुक्की नामक साहसी यात्री के नाम पर अमरीका पड़ा।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप के आंतरिक भागों में पाई जाने वाली घास भूमियों को प्रेअरीज कहते हैं।

♦ गे्रट बेसिन पठार महाद्वीप का सबसे बड़ा अंतर पर्वतीय पठार है। यहां की नदियां समुद्र तक नहीं पहुंच पाती है।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप का रेगिस्तान सोनोरन, एरीजोना, कैलीफोर्नियां तथा मेक्सिको में 3.10 लाख वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुए है।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में संयुक्त राज्य अमेरिका के दक्षिण-पूर्वी तट (मेक्सिको की खाड़ी) पर चलने वाले चक्रवात हरीकेन और टाॅरनेडो कहलाते हैं।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप की सुपीरियर झील विश्व की सबसे बड़ी ताजे पानी की झील है।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप के कनाडा का बुड वुफेलो नेशनल पार्क विश्व का सबसे बड़ा पार्क है।

♦ कनाड़ा ने न्यूफाण्डलैण्ड और नोवास्कोशिया के मध्य सेंट लारेंस की खाड़ी स्थित है।

♦ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में क्षेत्रफल की दृष्टि से कनाडा सबसे बड़ा एवं सेंट पीरे सबसे छोटा देश है।

♦ डेथवैली (मृत घाटी) जो केलीफोर्निया में है, समुद्र तल से 86 मीटर ऊँची है।

♦ मिसौरी नदी उत्तरी अमेरिका महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी है।

♦ कनाडा की लूसी झील को एमराल्ड झील के नाम से भी जाना जाता है।

♦ ग्रीनलैण्ड और कनाडा के बैपिफन द्वीप को डेविस जलडमरूमध्य जोड़ता है।

♦ विश्व की सबसे बड़ी हड्सन की खाड़ी कनाडा के पूर्वी तट पर स्थित है।

♦ संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलीफोर्निया की लाॅस एंजिल्स नगर विश्वविख्यात पिफल्म उद्योग का प्रमुख केन्द्र है।

♦ उत्तरी अमेरिका में रेड इंडियन और नीग्रो प्रजातियां निवास करती हैं।

♦ पनामा नहर के दो बंदरगाह कोलन और पनामा हैं।

♦ विश्व की प्रख्यात मक्का मण्डी संयुक्त राज्य अमेरिका के सेंट लुइस नगर में है।

♦ उत्तरी अमेरिका का कनाडा विश्व में सर्वाधिक अखबारी कागज (20,797 मि. कनेडियन डाॅलर मूल्य-1992) उत्पादित करने वाला देश है।

♦ उत्तरी अमेरिका के पूर्वी तट पर न्यूफाउण्डलेण्ड के दक्षिण-पश्चिमी तटीय भाग को ग्राण्ड बैंक कहते हैं। यह 96,000 वर्ग किमी. क्षेत्र में विस्तृत है और मत्स्य पालन का प्रमुख क्षेत्र है।

♦ उत्तरी अमेरिका की न्यूयाॅर्क सिटी में गै्रण्ड सेंट्रल टर्मीनल विश्व का सबसे बड़ा स्टेशन है।


जलवायु
•  उत्तरी अमेरिका महाद्वीप की जलवायु पर चार कारकों का विशेष प्रभाव पड़ता है।
•  अक्षांशीय स्थिति
•  पर्वतों का उत्तर-दक्षिण फैलाव
•  समुद्र की धाराएं
•  उत्तरी प्रशांत एवं उत्तरी अटलांटिक की हवा के कम दबाव के केन्द्र
•  शीत ऋतु में संपूर्ण कनाड़ा, अलास्का न्यूफाउंडलैण्ड तथा मध्यवर्ती मैदान में अर्धाेत्तरी भाग में ताप 32° फा. से कम रहता है। 
•  मेक्सिको खाड़ी के तटीय भागों तथा मेक्सिको में 48° - 36° फा. के बीच ताप रहता है। अतः शीत ट्टतु में महाद्वीप का कोई भी भाग अधिक गरम नहीं होता है।
•  ग्रीष्म ऋतु में केवल उत्तर सागरीय तट तथा उसके निकटवर्ती भागों को छोड़कर संपूर्ण महाद्वीप में 32° फा. से अधिक ताप रहता है।

वनस्पति 
•  महाद्वीप में टुंड्रा से लेकर उष्णकटिबंध तक सभी प्रकार की जलवायु मिलने के कारण सभी प्रकार की वनस्पतियां मिलती हैं। उत्तरी सागर के तटीय भागों में टुंड्रा वनस्पति तथा दक्षिण में भोजपत्र, चिनार एवं विलो आदि उगते हैं। 
•  इसके दक्षिण में लगभग 4800 किलोमीटर लंबा और 100 किलोमीटर चौड़ा भाग कोणधारी वनों से आच्छादित है। 


दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप 

स्थिति तथा आकार
•  12° 30' उ. अक्षांश से 55°30' द. अक्षांश तथा 35°0' सेे 11°0' पू. देशांतर। 
•  यह क्षेत्रफल में भारत से पांच गुना बड़ा है। 
•  इसकी अधिकतम लंबाई उत्तर से दक्षिण 7500 किलोमीटर तथा चौड़ाई पूर्व से पश्चिम 5000 किलोमीटर लगभग है।

प्राकृतिक विभाग
•  पर्वत पठार एवं नदी घाटियों से भरे इस महाद्वीप को सुगमतापूर्वक तीन मुख्य प्राकृतिक विभागों में बांटा जा सकता है--
•  पश्चिम में स्थित विशाल पर्वतमाला;
•  पूर्व में तीन प्रसिद्ध पठार और इनके बीच की निम्न भूमि, एवं; 
•  नदियों की विस्तृत घाटियां। इस महाद्वीप के पश्चिम में उत्तर-दक्षिण दिशा में फैली  हुई एंडीज नामक पर्वतमाला विश्व की सबसे लंबी पर्वतमाला है। 
•  सर्वोच्च चोटी अंकाकगुआ है, जो अर्जेटीना में स्थित है। यहां से एंडीज पर्वतमाला दो शाखाओं में विभक्त हो जाती है। 
•  दोनों शाखाओं के मध्य बोलीविया का पठार स्थित है ये दोनों शाखाएं सेयरा दूज पास्को पर मिल जाती है। फिर दो शाखाओं में विभक्त होकर एक्वाडोर के पठार को घेरती हुई पाश्तों की गांठ पर मिलती है।
•  चिली देश में एंडीज पर्वत के समांतर एक तटीय  शृंखला है। इस दोनों के बीच चिली की घाटी स्थित है। 
•  इस महाद्वीप के पूर्वी भाग में युयाना, ब्राजील तथा पेटागोन्या नामक तीन पठार स्थित हैं।

 

दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप: महत्वपूर्ण तथ्य

♦ यह विश्व का चौथा बड़ा महाद्वीप है। इसका क्षेत्रफल 1,77,98,500 वर्ग किलोमीटर है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप में चिली-अर्जेन्टाइना सीमा पर विश्व का सबसे ऊंचा ज्वालामुखी ओजेस डेल सलादो (7,084 मीटर) स्थित है।

♦ इस महाद्वीप के उत्तर में कैरीबियन सागर, उत्तर-पूर्व में उत्तरी अटलांटिका महासागर, दक्षिण-पूर्व में दक्षिणी अटलांटिक महासागर तथा पश्चिम में प्रशांत महासागर स्थित है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप के ब्राजील में बहने वाली अमेजन नदी विश्व में अपवाह क्षेत्र की दृष्टि से सबसे बड़ी नदी है। इसका अपवाह क्षेत्र 70,50,000 वर्ग किलोमीटर है। यह विश्व की दूसरी सबसे लंबी नदी है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप का ब्राजील विश्व में सर्वाधिक कॉफ़ी उत्पादित करने वाला देश है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप में अर्जेंटीना सर्वाधिक सूरजमुखी के बीज उत्पादित करता है। विश्व में इसका दूसरा स्थान है।

♦ दक्षिण अमेरिका महाद्वीप में ब्राजील में सर्वाधिक जलविद्युत योजनाओं का विकास हुआ है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप अर्जेंटीना, उरुग्वे और ब्राजील के अर्ध-नम भागों में पोषक तत्वों से भरपूर अल्फ़ाफानामक घास खूब उगती है।

♦ संसार में सर्वाधिक ऊंचाई पर बने सबसे अधिक रेल मार्ग चिली में हैं।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप में रेलमार्गों की सबसे ज्यादा लम्बाई अर्जेटीना में है।

♦ बोलीविया की राजधानी लापाज विश्व की सबसे ऊंचाई पर स्थित राजधानी है। यह समुद्र तल से 6,200 मीटर ऊँची है।

♦ विश्व में तांबा अयस्क का सबसे बड़ा उत्पादक देश चिली है।

♦ दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप में क्षेत्रफल की दृष्टि से ब्राजील सबसे बड़ा एवं काकलैण्ड सबसे छोटा देश है।

♦ इस महाद्वीप में दो स्थल रुद्ध देश बोलीविया और पराग्वे हैं।


जलवायु 
•  यह महाद्वीप स्थिति, आकृति, विषुवत् रेखा और मकर रेखा की स्थिति, एंडीज पर्वत  श्रंखला और समुद्री धाराओं से प्रभावित रहता है। इस महाद्वीप का लगभग दो तिहाई भाग उष्णकटिबंध में पड़ता है। 
•  विषुवत रेखीय प्रदेशों (अमेजिन नदी की घाटी) में वर्ष भर गर्मी पड़ती है। जुलाई में भूमध्य रेखा के उत्तरी भाग में ताप 26° से. से अधिक रहता है, दक्षिण भाग में यह घटता जाता है। महाद्वीप के दक्षिणी भाग में ताप लगभग 10° से रहता है।

नदियाँ
•  अमेजन नदी: अपवाह क्षेत्रा की दृष्टि से यह विश्व की सबसे  बड़ी नदी है। यह नदी विश्व की सभी नदियों में सबसे अधिक जल बहाकर ले जाती है। ब्राजील को पार कर यह नदी अटलांटिक महासागर में गिर जाती है।
•  पराना नदी: पराग्वे, उरुग्वे और इसकी सहायक नदियां ब्राजील के पठार से निकलकर दक्षिणी अटलांटिक महासागर में गिरती है। नदियों के इस सम्मिलित तंत्रा को ‘प्लाटा’ कहते हैं।
•  वेनेजुएला में प्रवाहित होती है और अटलांटिक महासागर में जाकर मिल जाती है।
•  रियो कोलोरेडो: एंडीज पर्वतमाला से निकलकर पूर्व में दक्षिण अटलांटिक महासागर में गिरती है।
•  एंजल्स जलप्रपात: वेनेजुएला के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित एंजल्स जलप्रपात विश्व का सबसे ऊंचा जलप्रपात है।

प्रमुख मरुस्थल 
•  अटाकामा मरुस्थल: दक्षिणी पेरू तथा उत्तरी चिली में फैला हुआ है।
•  पेटागोनिया मरुस्थल: यह अर्जेंटीना में फैला हुआ वृष्टि छाया प्रदेश है।
•  वनस्पति: अमेजन की घाटी में विषुवत रेखीय प्रदेशों के सदाबहार वन मिलते हैं। यहां वर्षा की अधिक और कम मात्रा के परिणामस्वरूप क्रमशः सेल्वा और माॅटाना वनस्पतियां पाई जाती हैं।
•  ओरिनोको घाटी और गुयाना पठार के सवाना को कीले नीस तथा ब्राजील पठार के सवाना को कम्पास कहते हैं। 
•   शीतोष्णकटिबंधीय पंपाजवाला क्षेत्रा अर्जेंटीना और उरुग्वे के तटीय प्रदेश और एंडीज पर्वत के पादप्रदेश के मध्य भाग में स्थित है।

Share with a friend

Complete Syllabus of UPSC

Dynamic Test

Content Category

Related Searches

Semester Notes

,

Summary

,

Viva Questions

,

उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev

,

Sample Paper

,

MCQs

,

shortcuts and tricks

,

Extra Questions

,

उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev

,

Exam

,

Free

,

pdf

,

video lectures

,

Objective type Questions

,

practice quizzes

,

past year papers

,

study material

,

Previous Year Questions with Solutions

,

mock tests for examination

,

ppt

,

उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप - भारतीय भूगोल UPSC Notes | EduRev

,

Important questions

;