Jankari UPSC Notes | EduRev

भूगोल (Geography) for UPSC Prelims in Hindi

Created by: Mn M Wonder Series

UPSC : Jankari UPSC Notes | EduRev

The document Jankari UPSC Notes | EduRev is a part of the UPSC Course भूगोल (Geography) for UPSC Prelims in Hindi.
All you need of UPSC at this link: UPSC

भूगोल महत्वपूर्ण जानकारियाँ
• पृथ्वी के आकार का वर्णन करने वाला सबसे उपयुक्त शब्द धराकारीय (Geoid) है।    
• सूर्य के चारों ओर अण्डाकार मार्गों के सहारे उसकी परिक्रमा करने वाले ग्रहों, उपग्रहों, असंख्य पुच्छल तारों, उल्काओं, क्षुद्रग्रहों आदि के सम्मिलित समूह को सौरमण्डल कहा जाता है।
• पृथ्वी की लगभग गोलाकार आकृति को ‘लध्वक्ष गोलाभ’ (Oblate Spheroid) कहते हैं।
• पृथ्वी के आन्तरिक भाग में स्थित ताप यदि मैग्मा के रूप में समय-समय पर बाहर न निकलें तो इसके भयंकर एवं अत्याधिक विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं। इसीलिए ज्वालामुखी को ‘प्रकृति का सुरक्षा वाल्व’ की संज्ञा दी जाती है।
• भूपृष्ट के 98.59% भाग का निर्माण केवल 8 मूलतत्वों के संयोग से हुआ है। ये हैं
(1) आक्सीजन (46.8%),
(2) सिलिकाॅन (27.7%),
(3) एल्यूमीनियम (8.13%),
(4) लोहा (5.00%),
(5) कैल्सियम (3.63%),
(6) सोडियम (2.83%),
(7) पोटैशियम (2.59%),
(8) मैगर्नीशियम (2.09%)
शेष 1.41% भाग के निर्माण में टाइटैनियम, हाइड्रोजन, फास्फोरस, कार्बन, मैंगनीज, सल्फर, बेरियम, क्लोरीन, सोना, चांदी, तांबा, पारा, सीसा आदि तत्वों का योगदान है।
• सूर्य द्वारा अपनी धुरी पर परिभ्रमण की गति 7,050 कि.मी. प्रति घंटा है।
• हिप्पार्कस ने पहली बार एक वृत्त को 360 अंशों में विभाजित किया था।
• पृथ्वी से दूरी के अनुसार ग्रहों का क्रम है - शुक्र, मंगल, बुध, बृहस्पति, शनि, यूरेनस, नेप्चून तथा प्लूटो।
• किसी तारे की परिक्रमा करने वाले प्रकाश-रहित आकाशीय पिण्ड, जो कि अपने केन्द्रवर्ती तारे के प्रकाश से ही प्रकाशित होते हैं, ग्रह (च्संदमज) कहलाते हैं।
• ‘तापीय भूमध्यरेखा’ ((Thermal Equator)) की स्थिति 50 उत्तरी अक्षांश के लगभग समानान्तर होती है।
• पृथ्वी तथा चन्द्रमा के कक्ष तलों में 50  का झुकाव है।
• बुध, शुक्र, पृथ्वी तथा मंगल को सौरमंण्डल के ‘आन्तरिक ग्रह’ की संज्ञा दी जाती है।
• बृहस्पति, शनि, यूरेनस, नेप्चून तथा प्लूटो की गणना ‘बाह्य ग्रहों’ में की जाती है।
• मंगल तथा बृहस्पति ग्रहों के बीच चक्कर लगाने वाले अत्यन्त लघु आकार के आकाशीय पिण्ड क्षुद्रग्रह कहे जाते हैं।
• बुध या मर्करी सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है जबकि बृहस्पति (Jupiter)  सबसे बड़ा ग्रह।
• शुक्र को ‘सायं का तारा’ तया भोर का तारा भी कहा जाता है।
• अपनी धुरी पर सूर्य की ओर अधिक झुकाव के कारण अरुण अथवा यूरेनस को ‘लेटा हुआ ग्रह’ कहा जाता है।
• पृथ्वी के अतिरिक्त केवल मंगल ग्रह पर वायुमंडल पाया जाता है।
• शुक्र सौरमंडल का सबसे चमकीला ग्रह है।
• मंगल ग्रह ‘लाल ग्रह’ के रूप में भी जाना जाता है।
• शुक्र ग्रह पर 1 दिन पृथ्वी के 117 दिनों के बराबर होता है।
• सूर्य की किरणों को पृथ्वी पर पहुंचने में 500 सेकेण्ड (8 मिनट 20 सेकेण्ड) का समय लगता है जबकि चन्द्रमा की परावर्तित प्रकाश किरणें मात्रा 1.3 सेकेण्ड में पृथ्वी पर पहुंच जाती है।
• वसन्त विषुव 21 मार्च को होता है।
• चट्टानों का अपदलन तापीय विस्तारण एवं संकुचन के कारण होता है।
• क्लाउड बस्र्ट का तात्पर्य बादलों की गूंज के साथ असाधारण रूप से होने वाली भारी वर्षा से है।
• ग्रेनेडा कैरीबियन सागर में स्थित है।
• महाद्वीपों का निर्माण ग्रेनाइटिक तथा महासागरों का निर्माण बेसाल्टिक चट्टानों से हुआ है।
• हर्सीनियन भू-हलचल के समय निर्मित होने वाली विश्व की दो महत्वपूर्ण पर्वत श्रेणियां हैं-यूराल तथा अप्लेशियन।
• पृथ्वी का द्रव्यमान, चन्द्रमा के द्रव्यमान से 81 गुना अधिक है।
• ईरी झील सं.रा. अमेरिका की महान झीलों में सर्वाधिक प्रदूषित झील है, जबकि सुपीरियर झील सबसे बड़ी है।
• गरारी एक पत्ते वाली फसल है।
• मिट्टी का पलवार करना वह प्रक्रिया है जिसमें कचरा, गोबर आदि को खेतों में डाला जाता है जिससे अत्यधिक वाष्पन तथा मिट्टी के अपरदन को रोका जा सके।
• प्रेयरी घास प्रदेशों में चरनोजम मिट्टी पायी जाती है।
• विश्व में वृहद् प्राकृतिक प्रदेशों की संकल्पना सर्वप्रथम मैकिण्डर द्वारा प्रतिपादित की गयी थी।
• पीटर हैगेट को भूगोल में माॅडल संकल्पना का जन्मदाता माना जाता है।
• सेण्टोग्रैफी का तात्पर्य किसी घटक जैसे जनसंख्या आदि के वितरण केन्द्रों के निर्धारण तथा उनके मानचित्राीय आलेखन से है। इस शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग टी.एन. पाॅल्सन द्वारा किया गया था।
• अपेक्षाकृत कम आर्थिक विकास वाले पामीर के पठारी क्षेत्र को एशिया का निष्प्राण क्षेत्र कहा जाता है।
• अल बेरुनी ने किताब-उल-हिन्द की रचना की थी।
• अरब भूगोलवेत्ता अल खारिजामी (813 से 833 ई) ने सिन्ध-हिन्द नामक पुस्तक की रचना की थी।
• प्रसिद्ध जर्मन भूगोलवेत्ता अलेक्जेण्डर वाॅन हम्बोल्ट को वर्तमान भूगोल का पिता कहा जाता है। ये प्रथम भूगोलवेत्ता थे जिन्होंने संसार के मानचित्रा पर समताप रेखाओं को खींचा था।
• पुर्तगाली यात्राी मैगेलन ने 1520 में जलमार्ग से सम्पूर्ण विश्व का चक्कर लगाया था।
• अनेग्जीमेण्डर विश्व के मानचित्रा के सर्वप्रथम निर्माणकर्ता थे।
• हेरोडोटस Environmentalism  की विचारधारा के प्रथम प्रारम्भकर्ता थे।
• हेकेटियस को भूगोल का जनक माना जाता है क्योंकि इन्होंने अपनी पुस्तक पेरीडायस में पहली बार भौगोलिक तत्वों के क्रमबद्ध अध्ययन का समावेश किया था।
• आसमान के नीला दिखने का कारण वायुमंडल में स्थित धूलकणों द्वारा नीले प्रकाश का सर्वाधिक बिखराव किया जाना है।
• सौर विकिरण की माप के लिए प्रयोग किया जाने वाला यन्त्र ऐक्टिनोमीटर (Actinometer) है।
• तिब्बत का पठार अन्तर्पर्वतीय पठार का सर्वोत्तम उदाहरण है।
• सागरीय भूआकृतियों में तट से गहराई की ओर जाने पर मिलने वाली स्थलाकृतियाँ हैं-क्रमशः महाद्वीपीय मग्नतट, महाद्वीपीय ढाल, महासागरीय मैदान तथा गंभीर सागरीय गर्त।
• डेल्टा का नामकरणकर्ता हेराडोटस को माना जाता है।
• इन्सेलबर्ग का दूसरा नाम बोर्नहार्ट भी है।
• ग्रीनविच मीन टाइम (G.M.T.) के सही आकलन के लिए प्रयोग किया जाने वाला यन्त्र क्रोनोमीटर है।
• रेगिस्तानी भागों में पर्वतों से घिरी बेसिन को वाॅलसन के नाम से जाना जाता है।
• पवन निक्षेपित लोयस का नामकरण फ्रांस के अलसस प्रांत के लोयस नामक ग्राम के आधार पर किया गया है। क्योंकि यहां इसी प्रकार के निक्षेप पाये जाते हैं।
• पानी की उपस्थिति के कारण अन्तरिक्ष से पृथ्वी का रंग नीला दिखायी पड़ता है। इसीलिए इसको नीला ग्रह (Blue Planet) भी कहते हैं।
• झील के अन्दर झील मेनीटू (कनाडा) में स्थित है।
• विश्व का सबसे ऊँचा जलप्रपात वेनेजुएला की कैरोनी नदी पर स्थित साल्टो एंजिल्स जल प्रपात है। इसकी ऊँचाई 979 मीटर है।
• विश्व का सबसे चैड़ा जलप्रपात लाओस का खोन जलप्रपात है। इसकी चैड़ाई 10.8 कि.मी. है।
• लेनिनग्राड नगर लाटुगा झील के किनारे बसा है।
• यूरोप का सर्वोच्च पर्वत शिखर एल्ब्रुश शिखर काकेशस पर्वतमाला में स्थित है।
• जैतून (Olive) भूमध्यसागरीय जलवायु की फसल है और विश्व के 90% जैतून की प्राप्ति इन्हीं क्षेत्रों से होती है। इसका कारण यहां की शुष्क गर्मी को इसके द्वारा सहन कर लेना है।
• अंगूरों को सुखाकर मुनक्का तथा किशमिश तैयार की जाती है। तुर्की की वुलताना किशमिश विश्व प्रसिद्ध है।
• न्याग्रा जलप्रपात ईरी तथा ओण्टैरियो झीलों के बीच स्थित है।
• अमेजन नदी की ज्वारीय तंरंगों अथवा ज्वारमित्तियों को पोरोरोका कहा जाता है।
• डेटम लाइन (Datum Line) वह क्षैतिज रेखा होती है जिसको आधार मानकर उच्चावच की गहराइयों तथा ऊँचाइयों की गणना की जाती है। प्रायः माध्य समुद्र तल को ही डेटम लाइन मान लिया जाता है।
• लैटेराइट मिट्टी इलायची की खेती के लिए सबसे उपयुक्त होती है।
• विश्व के सर्वप्रथम कपास की संकर जाति उत्पन्न करने का श्रेय भारत को है।
• काली मिट्टी में नाइट्रोजन सबसे न्यून मात्रा में पाया जाता है।
• ताइवान में विश्व प्रसिद्ध अलंग अथवा उलैंग किस्म की चाय का उत्पादन किया जाता है।
• काला सागर को पूर्व काल में एक्सीन सागर के नाम से जाना जाता था।
• क्रेटस नामक विद्वान ने लगभग 500 वर्ष ईसा पूर्व में एक ग्लोब का निर्माण किया था जो कि पहला धराकारीय ग्लोब था।
• अन्तर्राष्ट्रीय तिथि रेखा फिजी द्वीप को नहीं काटती जिससे न्यूजीलैंड तथा फिजी में दिन की समानता व्यवस्थित रहे।
• एटलाण्टिक महासागर के उत्तरी पश्चिमी क्षेत्र में स्थित थेसापीक खाड़ी ओयस्टर पकड़ने के लिए विश्व प्रसिद्ध है, जबकि इसकी कृषि मुख्य रूप से जापान में की जाती है।
• स्विट्ज़रलैण्ड में विश्व की सबसे सुन्दर घड़ियों का निर्माण किया जाता है और यहां की घड़ियां विश्व प्रसिद्ध है।
• अफ्रीका में एटलस तथा ड्रेकेन्सवर्ग प्रमुख पर्वत हैं। किलिमंजारो यहां का ज्वालामुखी पर्वत है।
• मिस्र में विश्व का सर्वाधिक खजूर का उत्पादन किया जाता है।
• एशियाई देश जापान का विश्व में जलयान-निर्माण में प्रथम स्थान है।
• श्रीलंका का सर्वोच्च पर्वत शिखर है प्वाॅइण्ट पेड्रो अथवा पिडूरुटागाला। इसकी ऊँचाई समुद्रतल से 2.524 मी. है।
• जीन ब्रुन्श ने गुरुत्वाकर्षण शक्ति को बुद्धिमान शक्ति तथा सौर्यिक शक्ति को मूर्ख शक्ति कहा है। इसका कारण है कि गुरुत्वाकर्षण शक्ति पृथ्वी पर विभिन्न दाब एवं घनत्व वाली वस्तुओं अथवा प्रदेशों के बीच स्थायित्व एवं सन्तुलन की अन्तर्धारा को बनाये रखती है जबकि सौर्यिक शक्ति इसके विपरीत वायुमंडल में विषमता उत्पन्न करती है जिससे अन्ततः धरातल पर अनेक प्रकार के परिवर्तनों का प्रादुर्भाव हो जाता है।
• कालगुर्ली तथा कूलगार्डी आस्ट्रेलिया की प्रमुख स्वर्ण खानें हैं।
• राइन, डेन्यूव, टेम्स, नीपर, नीस्टर, सीन, मर्सी तथा क्लाइड यूरोप की प्रमुख नदियां हैं।
• यूरोप को प्रायद्वीपों का महाद्वीप कहा जाता है क्योंकि यहां के अधिकांश देश तीन ओर से महासागरों से घिरे हैं।
• लुम्बार्डी का मैदान इटली के उत्तर में स्थित है।
• बुडापेस्ट, बुखारेस्ट, वियना तथा बेलग्रेड डेन्यूब नदी के किनारे स्थित प्रमुख बन्दरगाह हैं।
• मंसाबी, वरमिलियन तथा क्यूना सं.रा.अमेरिका के सबसे प्रमुख लौह क्षेत्र हैं जो मिनिसोटा राज्य में स्थित हैं।
• संयुक्त राज्य अमेरिका विश्व का सबसे बड़ा जलविद्युत उत्पादक राज्य है जबकि यहां विश्व की मात्रा 5% संभाव्य जलविद्युत शक्ति विद्यमान है।
• चन्द्रमा की उत्पत्ति क्रिटेशियस काल में मानी जाती है।
• उत्तरी ध्रुव की खोज सन् 1909 में सं. रा. अमेरिका के राबर्ट पियरी द्वारा की गई थी।
• दक्षिण ध्रुव के खोजकर्ता थे नार्वे के रोआल्ट अमण्डसेन (1911)।
• एशिया महाद्वीप में विश्व की सर्वाधिक (सम्पूर्ण विश्व का लगभग 60%) जनसंख्या पायी जाती है।
• एशिया महाद्वीप का विस्तार सम्पूर्ण विश्व के 30% क्षेत्र पर है। इसका क्षेत्रफल 4,40,30,300 वर्ग कि.मी. है।
• विश्व में उद्यान कृषि के 6 उपभेद पाये जाते हैं-
(1) बाजार के लिए सब्जी की कृषिए
(2) ट्रक-कृषिए
(3) कांचघर कृषिए
(4) पुष्प कृषिए
(5) पादप नर्सरी तथा
(6) व्यापारिक फलोद्यान।
• ज्वार-भाटा की उत्पत्ति में सूर्य तथा चन्द्रमा के सम्मिलित गुरुत्वाकर्षण का योगदान  रहता है।
• मानव द्वारा सर्वप्रथम प्रयोग में लाई गई धातु तांबा है।
• स्ट्राम्बोली नामक जागृत ज्वालामुखी को भूमध्य सागर का प्रकाश स्तंभ कहा जाता है।
• अण्टार्कटिका महाद्वीप में भारी मात्रा में क्रिल मछलियां पायी जाती हैं।
• विश्व की सबसे प्राचीन ज्ञात भाषा सुमेरियन है।
• भूगोल में हृदयस्थल सिद्धांत की संकल्पना का प्रतिपादन एच.जे. मैकिण्डर द्वारा 1904 में किया गया।
• रिमलैण्ड सिद्धांत की संकल्पना का प्रतिपादन एन.जे. स्पाइकमैन के दिमाग की उपज है। इसको 1944 में उन्होंने अपनी पुस्तक शान्ति का भूगोल में उल्लिखित किया।
• विश्व की सबसे चैड़ी जलसन्धि डेविस जलसन्धि है।
• मोह स्केल से चट्टानों की कठोरता मापी जाती है।
• आइसलैण्ड, नार्वे, स्वीडेन, डेनमार्क तथा फिनलैण्ड को सम्मिलित रूप से नार्देन के नाम से जाना जाता है।
• मेघों की दिशा एवं गति का मापन एक प्रकाशीय यन्त्र नेफोमीटर अथवा मेघमापी द्वारा किया जाता है।
• डिसमल दलदल सं.रा. अमेरिका में स्थित है।
• अन्नामाइट पठार मीकांग घाटी में है।
• विश्व की सबसे बड़ी भूकम्प पेटी प्रशान्त महासागरीय पेटी है। इसका सबसे बड़ा क्षेत्र जापान एवं उसके समीपवर्ती भागों में फैला हुआ है।
• अफ्रीका महाद्वीप में मिस्र का नगर खार्तूम सफेद नील तथा नीली नील नदियों के संगम पर स्थित है।
• विश्व की सबसे बड़ी कोयला खान बाॅकी जिम्बाब्वे में स्थित है।
• जापानी पेय शेक का निर्माण चावल से किया जाता है जबकि बीयर तथा व्हिस्की मुख्यतः जौ से बनायी जाती है।
• जिन, राई व्हिस्की तथा बोदका का निर्माण राई से किया जाता है।
• आस्ट्रेलिया के कूलगार्डी में सोना तथा जिंक (जस्ता) दोनों का उत्खनन किया जाता है।
• ब्लैक हिल्स आस्ट्रेलिया में चांदी उत्खनन का महत्वपूर्ण क्षेत्र है।
• परमाणु ऊर्जा खनिजों को स्त्रतजिक खनिज कहा जाता है।
• ब्रिटेन का लिवरपूल बन्दरगाह मर्सी नदी के किनारे स्थित है।
• ट्रोपोस्फीयर (क्षोभमंडल) में ऊँचाई बढ़ने के साथ ही जलवाष्प तथा कार्बन डाई आक्साइड की कमी होते जाने के कारण तापमान में भी क्रमशः कमी होती जाती है।
• भूमध्यरेखा (Equator) की लम्बाई 6.378 कि मी है।
• भ्रंश घाटी (Rift Valley) का निर्माण पृथ्वी की आन्तरिक हलचलों के कारण उसके किसी भाग के नीचे धस जाने से होता है।
• जापान के द्वीपों का निर्माण पृथ्वी की आन्तरिक हलचलों के कारण स्थल भाग के ऊपर उठ जाने से हुआ है।
• नलकूप द्वारा सिंचाई की विधि का सबसे पहले प्रयोग चीन में किया गया था।
• सं.रा. अमेरिका के न्यू मैक्सिको में स्थित काल्र्सवाद कन्दरा विश्व की सबसे बड़ी कन्दरा है।
• विश्व के सर्वाधिक केले (Banana) का उत्पादन इक्वेडर में किया जाता है।
• अपर वोल्टा देश का नया नाम बर्किना फासो रखा गया है।
• क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा भू-आवेष्ठित (Land-Locked) देश मंगोलिया है।
• कनाडा की दो-तिहाई जनसंख्या दक्षिणी-पूर्वी भाग में निवास करती है।
• आर्कटिक महासागर पनडुब्बियों के अतिरिक्त अन्य सभी प्रकार के जलयानों के  लिए  बन्द है।
• विश्व में इलायची का सर्वाधिक उत्पादन (52%) ग्वाटेमाला में होता है।
• लीडेन सिटी (नीदरलैंड) को यूरोप का वाराणसी के उपनाम से जाना जाता है।
• एक चन्द्र दिवस पृथ्वी के 28 दिवसों के बराबर होता है।
• तम्बाकू की कृषि मिट्टी से पोटाश की मात्रा को अवशोषित करके उसको समाप्त कर देती है।
• मौसम को प्रभावित करने वाली अधिकांश घटनाएं क्षोभमंडल (ट्रोपोस्फीयर) से संबंधित होती है।
• कायान्तरण से बालु का पत्थर क्वार्टजाइट में बदल जाता है।
• विश्व में मक्खन का सर्वाधिक उत्पादन रूस में किया जाता है जबकि इसका सबसे प्रमुख निर्यातक देश न्यूजीलैण्ड है।
• सं.रा. अमेरिका की कपास पेटी की उत्तरी सीमा 200 दिन की पाला रहित रेखा से निर्धारित होती है।
• आस्ट्रेलिया महाद्वीप में ज्वालामुखी का सर्वथा अभाव पाया जाता है।
• डेल्टा क्षेत्रों में उच्च भागों में मिलने वाली पुरानी जलोढ़ मिट्टी को राढ़ कहा जाता है।
• कुली झीलों का निर्माण ज्वालामुखी प्रक्रिया के परिणामस्वरूप होता है।
• उत्तरी अमेरिका की राकीज पर्वतमाला को महाद्वीपीय जल विभाजक कहा जाता है।
• कनाडा में विश्व का सर्वाधिक अखबारी कागज बनाया जाता है एवं यान्त्रिाक लुग्दी के उत्पादन में भी इसका विश्व में प्रथम स्थान है।
• कनाडा में कृषि भूमि का क्षेत्रफल यहां की कुल भूमि के 8% से भी कम है।
• भूमध्यरेखीय क्षेत्र में पेड़ों पर चढ़ी लताओं को लियाना (Liana) कहा जाता है।
• किरुना तथा बैलीवेयर स्वीडन की प्रसिद्ध लौह अयस्क की खानें हैं जहां से खनन किये गये सम्पूर्ण खनिज का निर्यात कर दिया जाता है क्योंकि स्वीडन के पास लौह अयस्क को गलाने के लिए पर्याप्त कोयले का अभाव है। लौह अयस्क स्वीडन की समृद्धि में सर्वाधिक सहायक है।
• विश्व में सबसे पहले नाइट्रेट की प्राप्ति दक्षिणी अमेरिका के चिली पठार पर हुई थी।
• मिसीसिपी नदी संयुक्त राज्य अमेरिका के 31 राज्यों तथा कनाडा के दो प्रदेशों से होकर प्रवाहित होती है।
• चांग टांग पठार लद्दाख में स्थित है।
• गोल्डेन गेट ब्रिज सैन फ्रांसिस्को नगर (सं.रा. अमेरिका) में स्थित है।
• अपने सम्पूर्ण द्वीपों सहित एशिया महाद्वीप का क्षेत्रफल विश्व के कुल क्षेत्रफल का 29.72% है।
• एलिफैण्टा पास (Elephanta Pass) उत्तरी श्रीलंका को दक्षिणी श्रीलंका से अलग करता है।
• विश्व का सर्वाधिक सुअर का मांस (Pork) चीन में उत्पादित किया जाता है।
• व्यापारिक पवनें (Trade Winds) नियमित पवनें हैं।
• सूर्य की ज्वारोत्पादक शक्ति चन्द्रमा की शक्ति की तुलना में मात्रा 4/9 भाग ही होती है।
• दिशाओं का निर्धारण उत्तर दिशा के परिप्रेक्ष्य में किया जाता है।
• पृथ्वी के इतिहास को विभिन्न युगों में बांटने का सर्वप्रथम प्रयास कास्ते डि वफन द्वारा किया गया था।
• पर्यावरण सन्तुलन की दृष्टि से किसी भी देश का 33.3% क्षेत्र सदैव वनाच्छादित रहना चाहिए।
• इटली में यूरोप का सर्वाधिक अंगूर तथा जैतून पैदा किया जाता है। इटली भूमध्यसागरीय जलवायु क्षेत्र के अन्तर्गत  आता है।
• जाम्बिया में जैम्बेजी नदी पर स्थित करीबा बांध के पीछे झील का निर्माण किया गया है।
• सं.रा. अमेरिका में एरीजोना तथा नेवादा राज्यों की सीमा पर कोलोरेडो नदी पर हूबर बांध बनाया गया है। इसके पीछे स्थित मीड झील (Mead Lake) एक प्रमुख जल भण्डार है।
• न्यूजीलैण्ड की प्लैण्टी खाड़ी का ह्नाइट टापू धुआंरा विश्व प्रसिद्ध है।
• विश्व की सबसे लम्बी भ्रंश घाटी जार्डन नदी की घाटी  है जिसकी लम्बाई लाल सागर से जैम्बेजी नदी तक 4,800 कि.मी. है।
• अपक्षय तथा अपरदन की क्रिया के कारण जब किसी स्थल खण्ड की अपनतियां अपनतियों में तथा अभिनतियां अभिनतियों में बदल जाती है तब इस स्थिति को उच्चावच्च प्रतिलोमन कहा जाता है।
• उच्चावच्च प्रतिलोमन का उदाहरण सं.रा.अमेरिका के अप्लेशियन पर्वतीय क्षेत्र में अधिक मिलता है।
• यूरोप से आस्ट्रेलिया जाने वाले जलयान केप आॅफ गुड होप मार्ग से जाते हैं क्योंकि पछुआ पवनें उनके अनुकूल रहती हैं जबकि वापसी के समय ये इन्हीं पछुआ पवनों से बचने के लिए स्वेज नहर जलमार्ग से गुजरते हैं।
• विश्व जनसंख्या वितरण को सर्वाधिक प्रभावित करने वाला तथ्य जलवायुविक भिन्नता है।
• पवन द्वारा बहाकर लायी गयी मिट्टी लोयस का सर्वाधिक जमाव उत्तरी चीन में पाया जाता है।
• भारत की निचली चम्बल घाटी में स्थित रामगढ़ गुम्बद देश में उच्चावच्च प्रतिलोमन का सर्वोत्तम उदाहरण प्रस्तुत करता है क्योंकि इसका शीर्ष भाग अपरदन के कारण वृत्ताकार बेसिन में परिवर्तित हो गया है।
• महाद्वीपों, महासागरों तथा अन्य प्रमुख स्थलाकृतियों एवं भूकम्प-ज्वालामुखी जैसी क्रियाओं की उत्पत्ति से संबंधित सर्वमान्य प्लेट विवर्तनिक सिद्धांत का प्रतिपादन सं.रा.अमेरिका में प्रिंसटन विश्वविद्यालय के प्रो. हैरी हेस द्वारा 1950 में किया गया।
• प्लेट नामावली का सर्वप्रथम प्रयोग टुजो विल्सन ने 1965 में किया।
• आयरलैण्ड का अन्तरिम पठार एक लावा निर्मित पठार है। इसका क्षेत्रफल 1,500 वर्ग मील है।
• समुद्री सीमा का स्पर्श न करने वाले एशियाई देश हैं अफगानिस्तान, नेपाल, भूटान, मंगोलिया तथा लाओस।
• सर्वप्रथम पारितन्त्रा शब्द का प्रयोग टैन्सले ने 1935 में किया था।
• जूरा पर्वत से जेनेवा झील तक रात्रि में बहने वाली शीतल एवं शुष्क पवन को जोरान कहा जाता है।
• किसी प्राकृतिक प्रदेश की सबसे स्पष्ट पहचान वहां की वनस्पतियों द्वारा होती है।
• जेट स्ट्रीम क्षोभ मंडल अथवा ट्रोपोस्फीयर की ऊपरी परतों में प्रवाहित होने वाली वायु-धाराएं हैं।
• न्यूफाउण्डलैण्ड द्वीप की खोज सन् 1947 में जाॅन कैबट द्वारा की गयी थी। यह एक फियोर्ड प्रकार का द्वीप है।
• चर्चिल प्रपात लेब्राडोर में स्थित विश्व का एक बृहत् जलविद्युत संयन्त्र है। इसकी क्षमता 52,25,000 कि.वा. जलविद्युत उत्पादन की है।
• अफ्रीका महाद्वीप के 6 देशों अंगोला, बोत्सवाना, मोजाम्बिक, तंजानिया, जाम्बिया तथा जिम्बाब्वे को सीमान्त रेखा राज्य कहा जाता है।
• विश्व का सबसे गहरा गर्त मेरियाना ट्रेंच है जिसकी गहराई 11,776 मी. है। यह फिलीपीन्स द्वीप समूह के पास स्थित है।
• विश्व की सबसे बड़ी झील कैस्पियन सागर है। इसका क्षेत्रफल 3,71.800 वर्ग कि.मी. है।
• विश्व की सबसे गहरी झील बैकाल झील है। इसकी गहराई औसत समुद्र तल से 1,485 मी. है जबकि धरातल से यह 1,940 मी. गहरी है।
• विश्व के प्रथम रेलमार्ग का निर्माण सन् 1830 में ब्रिटेन में हुआ जब पहली गाड़ी मैनचेस्टर तथा लिवरपूल के बीच चलायी गयी। इस रेलगाड़ी के चालक इसके निर्माता जार्ज स्टीवेंसन स्वयं थे।
• जीन ब्रुश ने मकानों एवं मार्गों को भूमि का अनुत्पादक प्रयोग की संज्ञा दी है।
• बेल्जियम का एण्टवर्प नगर विश्व में हीरा व्यापार का सबसे बड़ा केन्द्र है।
• ह्यूमस मृदा में विनष्ट होकर मिला हुआ वानस्पतिक एवं जैविक पदार्थों का मिश्रण है।
• 600 अक्षांशों के समीप पृथ्वी की परिधि उसकी विषुवतीय परिधि की आधी हो जाती है।
• रेण्डियर, नैटलिंग, विन्नीपेगोलिस, मेनीटोवा, डबावण्ट तथा निपिगन कनाडा की मीठे पानी की झीलें हैं।
• पश्चिमी यूरोप तुल्य जलवायु (Cb) की सबसे अद्भुत विशेषता यह है कि यहां कम वार्षिक वर्षा अधिक दिनों में प्राप्त होती है। जैसे पेरिस में 188 दिनों में 22.6इंच, लन्दन में 164 दिनों में 24.5 इंच तथा शटलैण्ड द्वीप में 260 दिनों में 36.7 इंच।
• चीन तुल्य जलवायु को मानसून से मिलती-जुलती या उप-मानसूनी जलवायु कहा जाता है।
• कारखानों की चिमनियों को मानव ज्वालामुखी भी कहा जाता है।
• हीरा, ग्रेफाइट, कोयला, काष्ठ कोयला या चारकोल, अस्थि कोयला, काजल, कोक तथा कार्बन गैस कार्बन के ही विभिन्न रूप है।
• पीतल (Brass) एक मिश्रधातु है जो तांबा एवं जस्ता मिलाकर बनायी जाती है।
• स्थायी चुम्बक बनाने के लिए मिश्रधातु एल्निको का प्रयोग किया जाता है। यह एल्यूमीनियम, निकिल तथा कोबाल्ट के मिश्रण से तैयार की जाती है।
• हंगरी में स्थित स्टेपी घासभूमियों को पुस्तैज (Pustaz) कहा जाता है।
• श्रीलंका के घास के मैदान पटाना के नाम से जाने जाते हैं।
• यूरेनियम को आशा की धातु (Metal of Hope), प्लूटोेनियम को भय की धातु (Metal of Fear),  रेडियम को जीवन-रक्षक धातु (Life-saving Metal)  तथा पारा अथवा मर्करी को तीव्र चांदी (Quick Silver) के उपनाम से जाना जाता है।
• उत्तरी गोलार्द्ध में अधिकतम सूर्यातप 21 जून को प्राप्त होता है।
• शीतोष्ण कटिबन्धीय क्षेत्रों में सूर्य की किरणें कभी भी धरातल पर सीधी नहीं पड़ती है।
• मनाओस अमेजन बेसिन की लकड़ियों का निर्यात करने वाला प्रसिद्ध बन्दरगाह है।
• इटली प्राकृतिक गैस का उपयोग करने वाला प्रथम यूरोपीय देश है।
• दक्षिण अमेरिका की पराना, परागुए, उरुग्वे तथा इनकी सहायक नदियों के तन्त्रा का सम्मिलित नाम प्लाटा (Plata) है।
• कृषि की प्रधानता तथा आल्प्स पर्वत की उपस्थिति के कारण इटली को यूरोप का भारत कहा जाता है।
• होमेस्टैक खदान संयुक्त राज्य अमेरिका की सबसे बड़ी स्वर्ण खदान है। यह दक्षिणी डकोटा राज्य में स्थित है।
• विश्व में सर्वाधिक सोयाबीन का उत्पादन सं.रा अमेरिका में किया जाता है। 

विश्व के प्रमुख धर्मों के अनुयायियों की संख्या

धर्म

अनुयायियों की संख्या (लगभग)

ईसाई

1900,000,000

इस्लाम

1000,000,000

हिन्दू

900,000,000

बौद्ध

311,000,000

यहूदी

18,000,000

सिक्ख

17,000,000

कन्फ्युशियन

6,000,000

जैन

4,000,000

बहाई

4,000,000


● आस्ट्रेलिया विश्व का सबसे बड़ा ऊन-निर्यातकदेश है। यहां मेरिनो नामक विश्व प्रसिद्ध भेड़ पायी जाती है।
● हेरिंग को गरीबों की मछली कहा जाता है।
● उष्णकटिबन्धीय जलवायु क्षेत्रों में कुछ जहरीली मछलियां भी पायी जाती हैं।
● ह्नवेल मछली पकड़ने के संदर्भ में अन्तर्राष्ट्रीय सहमति का उद्देश्य इसकी अत्यधिक पकड़ को नियन्त्रित करना है।
● विश्व मे प्रथम जल विद्यतु गहृ की स्थापना सन् 1883 में फ्रांस में की गयी थी।
● उपोष्ण कटिबन्धीय सागरों में खारापन सर्वाधिक होता है।
● ग्रेनाइट चट्टान आग्नेय के अन्तर्गत आती है।
● नदी-मार्ग में जल प्रपातों का मिलना नदी-अपरदन चक्र की युवावस्था का द्योतक होता है।
● पेण्टोग्राफ नामक यन्त्र का प्रयोग मानचित्रों के लघुकरण एवं विवर्धन के लिए किया जाता है।
● एनीमोमीटर यन्त्र से हवा की गति का मापन किया जाता है।
● भूमध्यसागरीय जलवायु की सबसे प्रमुख विशेषता जाड़े में होन वाली वर्षा है। यहां ग्रीष्म ऋतु प्रायः शुष्क रहती है।
● सं.रा. अमेरिका के अलास्का प्रदेश में कटमई ज्वालामुखी के समीपवर्ती कई वर्ग कि.मी. क्षेत्र में धुआंरे मिलने के कारण यहां स्थित घाटी को दस हजार धुआंरों की घाटी कहा जाता है।
● विश्व में सर्वाधिक ऊँचाई पर स्थित ज्वालामुखी कोटोपैक्सी (इक्वेडर) हैं।
● लैसिफर लैका लाख के कीड़े का नाम है।

भूमण्डल की वायुराशियाँ

बृहत प्रकार

नाम (संकेत

वायुराशियां एवं उनकी प्रकृति

1. महाद्वीपीय ध्रुवीय

1. cpks

महाद्वीपीय ध्रुवीय ठण्डी स्थिर वायुराशि

(cP)

2. cPku

महाद्वीपीय ध्रुवीय ठण्डी अस्थिर

वायुराशि

 

3. cPWs

महाद्वीपीय ध्रुवीय गर्म स्थिर वायुराशि

 

4. cPWu

महाद्वीपीय गर्म अस्थिर वायुराशि

2. सागरीय ध्रुवीय

5. mPks

सागरीय धु्रवीय ठण्डी स्थिर वायुराशि

(mP)

6. mPku

सागरीय ध्रुवीय ठण्डी अस्थिर वायुराशि

 

7. mPWs

सागरीय ध्रुवीय गर्म स्थिर वायुराशि

 

8. mPWs

सागरीय ध्रुवीय गर्म स्थिर वायुराशि

3. महाद्वीपीय उष्णकटिबन्धीय

9. cTks

महाद्वीपीय उष्ण कटिबन्धीय ठण्डी स्थिर वायुराशि

(cT)

10. cTku

महाद्वीपीय उष्ण कटिबन्धीय ठण्डी अस्थिर वायुराशि

 

11. cTws

महाद्वीपीय उष्ण कटिबन्धीय गर्म स्थिर वायुराशि

 

12. cTWu

महासागरीय उष्ण कटिबन्धीय गर्म स्थिर वायुराशि

4. सागरीय उष्णकटिबन्धीय

13. mTks

सागरीय उष्ण कटिबन्धीय ठण्डी स्थिर वायुराशि

(mT)

14. mTku

सागरीय उष्ण कटिबन्धीय ठण्डी अस्थिर वायुराशि

 

15. mTWs

सागरीय उष्ण कटिबन्धीय गर्म स्थिर वायुराशि

 

16. mTWu

सागरीय उष्ण कटिबन्धीय गर्म अस्थिर वायुराशि

Share with a friend

Complete Syllabus of UPSC

Content Category

Related Searches

Previous Year Questions with Solutions

,

Viva Questions

,

shortcuts and tricks

,

Important questions

,

Jankari UPSC Notes | EduRev

,

Exam

,

ppt

,

Semester Notes

,

Jankari UPSC Notes | EduRev

,

Summary

,

pdf

,

Sample Paper

,

MCQs

,

mock tests for examination

,

practice quizzes

,

Objective type Questions

,

video lectures

,

Extra Questions

,

study material

,

Free

,

Jankari UPSC Notes | EduRev

,

past year papers

;